पंजाब में विधायकों-मंत्रियों की सुरक्षा पर चली कैंची, पटना साहिब के पूर्व जत्थेदार को भी गंवाना पड़ा सुरक्षा कवज

पंजाब में विधायकों-मंत्रियों की सुरक्षा पर चली कैंची, पटना साहिब के पूर्व जत्थेदार को भी गंवाना पड़ा सुरक्षा कवज

DESK. आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के बाद से पंजाब में कई बड़े फैसले लिए गये हैं. अब राज्य में राजनेताओं की सुरक्षा कमान में कटौती कर भगवंत मान सरकार ने राज्य में बड़ा फैसला लिया है. जिन लोगों की सुरक्षा हटाई गई है उसमें पटना साहिब के पूर्व जत्थेदार ज्ञानी इकबाल सिंह का नाम भी शामिल है. दरअसल पंजाब पुलिस ने 184 पूर्व मंत्रियों और पूर्व विधायकों और अन्य नेताओं की सुरक्षा वापस लेने का आदेश दिया है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (सुरक्षा) के एक पत्र में कहा गया है कि अदालतों के विशिष्ट आदेशों पर तैनात कर्मियों को वापस नहीं लिया जाएगा। 20 अप्रैल का पत्र पुलिस आयुक्तों और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को भेजा गया था।

पूर्व मंत्री सुरजीत कुमार रखड़ा, सुच्चा सिंह छोटेपुर, जनमेजा सिंह सेखों, बीबी जागीर कौर, मदन मोहन मित्तल, तोता सिंह और गुलजार सिंह राणिके प्रमुख हैं। पूर्व मुख्यमंत्रियों और अन्य मंत्रियों के परिवार की सुरक्षा भी वापस ले ली गई।

पंजाब के पूर्व सीएम चरणजीत सिंह चन्नी का परिवार; पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह के बेटे रणिंदर सिंह; पूर्व मंत्री आदेश प्रताप सिंह कैरों की पत्नी पुनीत कौर; पूर्व वित्त मंत्री मनप्रीत बादल के बेटे अर्जुन बादल से भी सुरक्षा वापस ले ली गई है। कांग्रेस विधायक प्रताप सिंह बाजवा की पत्नी चरणजीत कौर बाजवा और पूर्व मंत्री सुखजिंदर रंधावा के बेटे उदयबीर सिंह से भी सुरक्षा वापस ले ली गई है।

पुलिस ने पूर्व सांसद और आईपीएल के पूर्व अध्यक्ष राजीव शुक्ला का सुरक्षा घेरा भी वापस ले लिया। पंजाब विधानसभा चुनावा में भाजपा की स्टार प्रचारक माही गिल और पूर्व डीजीपी सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय के बेटे सिद्धांत चट्टोपाध्याय भी इस सूची में शामिल है।

जिन भाजपा नेताओं की सुरक्षा हटा ली गई है उनमें पंजाब भाजपा महासचिव जीवन गुप्ता, पंजाब भाजपा के पूर्व अध्यक्ष राजिंदर भंडारी और राजेश बग्गा शामिल हैं। गोबिंद सिंह लोंगोवाल, जीत मोहिंदर सिंह, करण कौर बराड़, बलबीर सिंह घुनस, दीप मल्होत्रा, मंतर सिंह बराड़, जोगिंदर पाल जैन, अरविंद खन्ना और सरबजीत मक्कड़ सहित पूर्व अकाली और कांग्रेस विधायकों की सुरक्षा भी वापस ले ली गई।

पंजाब युवा कांग्रेस के प्रमुख बरिंदर ढिल्लों, अकाल तख्त के पूर्व जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह, पटना साहिब के पूर्व जत्थेदार ज्ञानी इकबाल सिंह और अमरजीत सिंह चावला और सुरजीत सिंह गढ़ी सहित एसजीपीसी के कुछ सदस्यों को भी सुरक्षा कवच गंवाना पड़ा।


Find Us on Facebook

Trending News