शिक्षा घोटाले की दूसरी किस्त : अर्पिता मुखर्जी के दूसरे फ्लैट से भी मिला नगदी और सोने का ढेर, ले जाने के लिए बुलानी पड़ी ट्रक

शिक्षा घोटाले की दूसरी किस्त : अर्पिता मुखर्जी के दूसरे फ्लैट से भी मिला नगदी और सोने का ढेर, ले जाने के लिए बुलानी पड़ी ट्रक

KOLKATTA : पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी सरकार की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं। यहां शिक्षा घोटाले में एक बार फिर से प्रवर्तन निदेशालय ने एक्ट्रेस अर्पिता मुखर्जी के दूसरे घर में छापेमारी की है। इस छापेमारी में भी ईडी को कुबेर का खजाना हासिल हुआ है। जहां पहली बार छापेमारी में 20 करोड़ से ज्यादा कैश बरामद हुए थे। वहीं अब अर्पिता मुखर्जी के बेलघरिया स्थित फ्लैट से भारी रकम बरामद की गई है। बताया जा रहा है कि 18 घंटे चली रेड में ED को 29 करोड़ कैश मिला है। नोटों की गिनती के लिए 3 मशीनें लगाई गई थीं। इसके साथ ही 5 किलो सोना भी बरामद हुआ है। । हालत यह है कि नोटों को ले जाने के लिए ट्रक बुलाना पड़ा है।

कैश के साथ तीन किलो सोना भी जब्त

अर्पिता के घर से बरामद कैश को गिनने के लिए तीन मशीनें लगाई गई हैं। इसके अलावा बड़ी मात्रा में ज्वेलरी भी बरामद हुई। सूत्रों के मुताबिक, अर्पिता के सेल्फ से तीन किलो सोना जब्त किया गया। इसकी कीमत करीब डेढ़ करोड़ है। कुल मिलाकर अब तक 41 करोड़ कैश और ढाई करोड़ की ज्वेलरी जब्त की जा चुकी है।

अब तक 41 करोड़ रुपए कैश बरामद

 अब तक शिक्षा घोटाले में 23 जुलाई को भी ED ने मंत्री पार्थ चटर्जी और उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी के ठिकानों पर छापा मारा था। अर्पिता के घर 21 करोड़ रुपए कैश और 1 करोड़ रुपए की ज्वेलरी मिली थी। 500 और 2000 रुपए के नोटों के ढेरों बंडल को एक कमरे में झोले और बैग में ठूंस-ठूंस कर रखा गया था। एजेंसी को दस्तावेज भी मिले थे। कुल मिलाकर अब तक अर्पिता के घर से 41 करोड़ कैश रिकवर किए जा चुके हैं। वहीं अर्पिता मुखर्जी और पार्थ चटर्जी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। इधर, ED ने अर्पिता के बेलघरिया टाउन क्लब स्थित दो में से एक फ्लैट को सील कर दिया है। नोटिस में अर्पिता पर 11,819 रुपए मैंटेनेंस नहीं चुकाने की वजह बताई गई है।

रिश्तेदारों के घर भी हुई छापेमारी

ED ने बुधवार को मंत्री पार्थ चटर्जी और उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी के ठिकानों पर फिर छापा मारा। रिपोर्ट्स के मुताबिक पार्थ और अर्पिता के 5 ठिकानों पर ED ने छापा मारा है। ED की टीम ने कोलकाता और उसके आसपास पांच जगहों, उत्तर 24 परगना जिले के बेलघरिया और राजडांगा में बने अर्पिता के ऑफिस, रिश्तेदारों के घर और बाकी फ्लैट्स पर भी छापा मारा।

पार्थ चटर्जी बोले- इस्तीफा क्यों दूं

इधर, गिरफ्तारी के बाद हेल्थ चेकअप के लिए आए पार्थ मुखर्जी ने मंत्री पद से इस्तीफा देने से इनकार कर दिया है। पत्रकार द्वारा पूछे गए इस्तीफे के सवाल पर पार्थ ने चिल्लाकर कहा- इस्तीफा क्यों दूं, इसकी वजह बताओ। वहीं अब रिपोर्ट्स के मुताबिक, गुरुवार को कैबिनेट मीटिंग होने वाली है। जिसमें ममता पार्थ से जुड़े फैसले ले सकती हैं। माना जा रहा है कि ममता बनर्जी खुद पार्थ चटर्जी से  उद्योग, सूचना प्रौद्योगिकी और परिषद विभाग, वाणिज्य मंत्री पद छीन सकती हैं।

Find Us on Facebook

Trending News