देखिए डीजीपी साहब ! ज्वेलरी शॉप से हुए 5 करोड़ की लूट में पुलिस के हाथ 18 दिन बाद भी खाली, अब तक 1 ग्राम सोना भी नहीं मिला

देखिए डीजीपी साहब ! ज्वेलरी शॉप से हुए 5 करोड़ की लूट में पुलिस के हाथ 18 दिन बाद भी खाली, अब तक 1 ग्राम सोना भी नहीं मिला

डेस्क...  दरभंगा में हुए सोना लूट मामले में दरभंगा पुलिस कई संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन इस मामले में पुलिस के हाथ अभी भी खाली है, ना ही पुलिस एक ग्राम सोना बरामद की है और ना ही कुछ कह पा रही है। बता दे कि, दरभंगा में 18 दिन पहले 5 करोड़ के सोने की लूट हुई थी। 9 दिसंबर को दरभंगा में अपराधियों ने दिनदहाड़े ज्वेलरी शॉप से जेवर और कैश समेत करीब 5 करोड़ की संपत्ति लूट ली। घटना के 18 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ अब तक खाली हैं। बदमाश अंधाधुंध फायरिंग करते हुए मौके से फरार हो गए। मामले में पुलिस ने अब तक आठ आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन इनके पास से लूट का 1 ग्राम सोना भी बरामद नहीं कर पाई है। 

आपको बता दें कि दरभंगा के ज्वेलरी शॉप में फिल्मी स्टाइल में अपराधियों ने तकरीबन 5 करोड़ का सोना दिनदहाड़े लूट लिया था। इस ज्वेलरी शॉप के अंदर हुई लूट की वारदात का सीसीटीवी फुटेज जो सामने आया उसे हम पहले भी न्यूज4नेशन पर दिखा चुके हैं। फुटेज में साफ देखा गया था कि कैसे अपराधी हथियार के बल पर बैग में सोना भरते हुए फरार हो रहे हैं। 

आपको बता दें कि 9 दिसंबर सुबह सवा 10 बजे के आसपास ही दिन के उजाले में एक के बाद एक बेखौफ अपराधी अचानक दुकान में दाखिल होते हैं और पिस्टल की नोक पर लूटपाट की सनसनीखेज वारदात को अंजाम दे डालते हैं। लूट की पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो जाती है। लुटेरे दुकान में घुसते हैं और सोने की खोज में इधर-उधर हाथ-पांव मारते हैं। इतना ही नहीं दुकानदार को डराने के लिए अपराधी पिस्टल को तान देते हैं। इस दौरान दूसरा अपराधी बैग लेकर दुकान में पहुंचता है और बैग में सोना भरने लगता है। 

इसी बीच जैकेट पहन कर एक सख्स दुकान में प्रवेश करता है, लेकिन तभी लुटेरे उसे धक्का देकर एक किनारे खड़ा कर देते हैं। लूट की वारदात को अंजाम देने वाले अपराधी अंधाधुंध फायरिंग करते हुए मौके से फरार हो जाते हैं। दुकानदार द्वारा शोर मचाने के बाद आसपास के लोग उन लुटरों का पीछा करने लगते हैं। शोर करने पर अपराधी जेवर से एक बैग लेकर फरार हो जाता है, जबकि एक बैग वहीं छूट जाता है। 


इस मामले में पुलिस ने अब तक 8 अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपी में से 7 अपराधी दरभंगा जिले के हैं। इनके पास से पुलिस ने एक देसी कट्टा, दो जिंदा कारतूस, नशीली दवा और दो बाइक बरामद की है। लूट की इस वारदात में हाजीपुर का मनीष सहनी भी शामिल था, जिसने हाजीपुर कोर्ट में अपने आप को सरेंडर किया था। मुख्य आरोप मनीष सहनी के खिलाफ पुलिस के पास पुख्ता सबूत मिले हैं।

हालांकि मनीष सहनी अपने आप को निर्दोष बता रहा हैं और साजिश के तहत फंसाने का आरोप लगा रहा है। फिलहाल पुलिस को लूटे गए 14 किलो सोने में से 1 ग्राम सोना भी अब तक बरामद नहीं हुआ है। दरभंगा एसएसपी बाबू राम ने दावा जरूर किया है कि सभी जेवर जल्द से जल्द बरामद कर लिया जाएगा।

वारदात के बारे में जानकारी देते हुए दरभंगा एसएसपी बाबू  राम ने बताया कि लूट की वारदात को अंजाम देने की साजिश सोने-चांदी की दुकान चलाने वाले कन्हैया सहनी ने रची थी। पहले उसने मधुबनी के अपराधी दिनेश यादव से संपर्क साधा और अपने कुछ लोगों के साथ मिलकर हाजीपुर के अपराधी मनीष सहनी से संपर्क किया गया और इस घटना को अंजाम दिया। अपराधी इस घटना को अंजाम देने के के लिए एक दिन पहले ही दरभंगा पहुंच गए थे और पूरे इलाके की रेकी कर चुके थे। एसएसपी ने यह भी बताया कि इस लूट कांड में कुल 16 अपराधी शामिल हैं। लूटे गए सोने को बरामद करने और लुटेरों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। 

जेवर लूट के बाद भी नहीं जागी दरभंगा पुलिस

वहीं, अब तक 5 करोड़ के सोने की लूट को का खुलासा नहीं हो सका है। इधर, दरभंगा के नगर थाने से महज कुछ ही दूरी पर मशरफ बाजार में बर्फ कपड़ा व्यवसाई के घर में चोरों ने भीषण चोरी की घटना को अंजाम दिया है। परिजनों के मुताबिक जब पूरा परिवार घर को बंद कर घूमने गया था और जब देर श्याम परिवार लौटा तो घर के सभी दरवाजे टूटे हुए थे। 

गोदरेज अलमीरा के साथ सभी लॉकर चोरों ने तोड़ा और सोने के गहने लेकर फरार हो गए। दिनदहाड़े ₹5 करोड़ से ज्यादा सोने के लोग की घटना को अंजाम देने वाले पुलिस गश्त तेज करने की मांग उठी थी। पुलिस ने भी गस्त समेत तेजी लाने के लिए दवा किया था, लेकिन शहर के पॉश इलाके में चोरी की घटना को अंजाम देकर अपराधियों ने पुलिस को फिर से चुनौती दी है। 

पटना से मदन कुमार की रिपोर्ट...


Find Us on Facebook

Trending News