विधानसभा के बाहर गूंजा शराबबंदी का मामला, विपक्ष ने कहा - अब हो रही बेड डिलिवरी

विधानसभा के बाहर गूंजा शराबबंदी का मामला, विपक्ष ने कहा - अब हो रही बेड डिलिवरी

पटना। मंत्री रामसूरत राय के भाई के स्कूल में बरामद शराब की खेप ने बिहार में विपक्ष को नया टॉनिक दे दिया है।  जिसको लेकर दो दिन के अवकाश के बाद शनिवार को विधानमंडल की कार्रवाई शुरू होते ही शराब बंदी को लेकर जहां तेजस्वी यादव ने विधानसभा में सरकार को घेरने की कोशिश की, वहीं सदन के बाहर राजद विधायकों ने प्रदर्शन कर यह बता दिया कि शराबबंदी पर अब सरकार की नौटंकी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। 

राजद विधायक भाई विरेंद्र ने कहा कि पहले बिहार में शराब की होम डिलिवरी की जाती थी। अब बेड डिलिवरी की जा रही है। बिहार सरकार के मंत्री शराब बेचने का काम कर रहे हैं। थानों से शराब की बिक्री की जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार सिर्फ कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति तक सीमित है। भाई बिरेंद्र ने कहा कि बिहार में शराबबंदी की गई लेकिन इसकी सीमाओं को सील नहीं किया गया नतीजा यह हुआ हर दिन सैकड़ों ट्रक शराब की खेप लेकर बिहार में प्रवेश करती हैं जिनमें दिखावे के लिए सिर्फ कुछ ट्रकों को जब्त कर कार्रवाई की खानापूर्ति की जाती है।

 उन्होंने कहा कि जिस तरह से बिहार में शराब उपलब्ध हो रहे हैं वह साबित करता है कि बिहार में शराबबंदी कानून पूरी तरह से फेल हो चुकी है भाई बिरेंद्र ने कहा कि सिर्फ पटना में 11 करोड़ के शराब मिलती है। सीएम के नाक के नीचे शराब की बिक्री हो रही है लेकिन किसी को खबर नहीं होती यह चौंकाने वाली बात है आज मंत्री और पुलिस के साथ अधिकारियों की देखरेख में शराब की बिक्री की जा रही है...


Find Us on Facebook

Trending News