शराब बंदी पर बोले बिस्कोमान अध्यक्ष - जिले के अधिकारी अगर सीएम का फोन भी उठा लें तो दे दूंगा इस्तीफा

शराब बंदी पर बोले बिस्कोमान अध्यक्ष - जिले के अधिकारी अगर सीएम का फोन भी उठा लें तो दे दूंगा इस्तीफा

पटना। बिहार में  जहरीले शराब से सेवन से हुई मौत को लेकर बिहार के सीएम लगातार ही घिरते नजर आ रहे हैं। जहां हम प्रमुख जीतन राम मांझी और वीआईपी अध्यक्ष मुकेश सहनी मौतों को लेकर खुलकर अपनी नाराजगी जाहिर की है। वहीं इस सूची में एक और नाम शामिल हो गया है, वह है बिस्कोमान के अध्यक्ष और राजद के विधान पार्रषद सुनील कुमार सिंह का। जिन्होंने यह दावा किया है बिहार के सीएम अगर किसी दूसरे नंबर से फोन करें तो मेरा दावा है कि किसी भी जिले के डीएम और एसपी उनका भी फोन नहीं उठाएंगे। अगर कोई भी उनका फोन उठा ले तो मैं बिस्कोमान से इस्तीफा दे दूंगा।

बिस्कोमान अध्यक्ष ने कहा कि बिहार में शराबबंदी के बाद कुछ लोग राजाराममोहन राय बनने के चक्कर में हैं। सुनील कुमार का इशारा बिहार के सीएम की तरफ था, हालांकि उन्होंने सीएम का नाम नहीं लिया। उन्होंने कहा कि सीएम कहते हैं कि किसी भी जिले में शराब की बिक्री होती है तो वहा के डीएम और एसपी जिम्मेदार होंगे। लेकिन मैं यह दावा करता हूं कि कोई भी अधिकारी अगर फोन भी उठा ले तो मैं इस्तीफा दे दूंगा। अधिकारियों की मनमानी इस कदर हो चुकी है कि खुद सीएम अगर दूसरे नंबर से फोन करें तो उनका फोन भी नहीं उठाया जाएगा।

बिहार में चल रहा है शराब का कॉल सेंटर

विधान पार्षद ने कहा कि भले ही आज शराब की दुकानें बंद हो गई है, लेकिन शराब हर जगह आसानी से उपलब्ध है। इसके लिए महज एक कॉल करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि बिहार में शराब उपलब्ध कराने के लिए कॉल सेंटर चल रहे हैं, जिनसे संपर्क कर मुख्यमंत्री आवास के पास भी शराब मंगाई जा सकती है।

युवाओं को शराब बेचने का रोजगार

बिस्कोमान अध्यक्ष ने कहा जिससे भी पूछो तो शरारबंदी की तारीफ करेगा, लेकिन आपने शराबबंदी कर दी, लेकिन उससे होनेवाले नुकसान को लेकर लोगों को जागृत नहीं किया। आज बिहार की सीमाओं पर स्थित जिले के युवाओं के लिए यह रोजगार का जरिया बन गया है। हर दिन वह ट्रेनों और बसो में सवार होकर दूसरे राज्य जाते हैं और झोले में शराब लाकर यहां बेच रहे हैं। बिहार सरकार ने युवाओं को शराबबंदी के नाम पर नर्क में धकेल दिया है।

शराब से हुई मौत को लेकर गरजे

 बिहार के गोपालगंज और मुजफ्फरपुर में जहरीले शराब सेवन से हुई मौत को लेकर उन्होंने कहा आज दस मौतें हुई हैं, कल 20 और फिर 30 होंगी। यही सच्चाई है। आज बिहार में शराब कुटीर उद्योग की शक्ल ले चुका है, जिसके लिए पूरी तरह से नीतीश कुमार जिम्मेदार हैं। 


Find Us on Facebook

Trending News