नवकार ज्वेलर्स चोरी मामले में बुरे फंसे सिमडेगा SP, झारखंड पुलिस मुख्यालय ने की हटाने की अनुशंसा

नवकार ज्वेलर्स चोरी मामले में बुरे फंसे सिमडेगा SP, झारखंड पुलिस मुख्यालय ने की हटाने की अनुशंसा

Desk. छत्तीसगढ़ के रायपुर स्थित नवकार ज्वेलर्स से 80 लाख के जेवरात की चोरी और सिमडेगा में बरामदगी के बाद हेराफेरी मामले में सिमडेगा एसपी की परेशानी बढ़ सकती है. जानकारी के अनुसार सीआईडी जांच में आये तथ्यों के आधार पर झारखंड पुलिस मुख्यालय ने राज्य सरकार से सिमडेगा के एसपी शम्स तबरेज को हटाने की अनुशंसा की है. उल्लेखनीय है कि सिमडेगा पुलिस ने 80 लाख का जेवरात बरामद किया, लेकिन सिर्फ 25 लाख का जेवरात ही दिखाया था.

छत्तीसगढ़ के रायपुर स्थित नवकार ज्वेलर्स से चोरी किये गये 80 लाख के जेवरात की सिमडेगा में बरामदगी के बाद हेराफेरी के मामले में रांची के रेंज डीआईजी पंकज कंबोज ने पुलिस मुख्यालय को जो रिपोर्ट दी थी, उसमें एसपी सिमडेगा शम्स तबरेज पर कई आरोप लगाया गया था. डीआइजी की रिपोर्ट पर पुलिस मुख्यालय ने एसपी सिमडेगा को शो-कॉज किया है और उनसे बिंदुवार जवाब मांगा था.

वहीं दूसरी ओर सीआईडी ने आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट के तहत मुकदमा चलाने का फैसला लिया है। इस मामले में बीते दिन बांसजोर थाने के तत्कालीन प्रभारी आशीष कुमार, दारोगा संदीप कुमार, पुलिस चालक सहित अन्य आरोपी जेल भेजे गए थे. अब सीआईडी ने इस मामले में जांच के बाद आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामले में पीसी एक्ट जोड़ने का फैसला लिया है. पीसी एक्ट की धारा जुड़ने के बाद पूरे मामले की जांच डीएसपी स्तर के अधिकारी करेंगे.

इस मामले के बाद 2008 बैच के सिमडेगा के एसपी शम्स तबरेज का प्रमोशन भी बाधित हो सकता है, क्योंकि साल 2022 में इसी बैच के आईपीएस अधिकारियों का डीआईजी रैंक में प्रमोशन होना है. जेवरात खपाने के मामले में तत्कालीन डीआईजी और सीआईडी की जांच रिपोर्ट के आधार पर सिमडेगा एसपी पर विभागीय कार्रवाई की भी अनुशंसा की गई थी. विभागीय कार्रवाई शुरू होने से शम्स तबरेज का प्रमोशन प्रभावित हो सकता है.

मालूम हो कि छत्तीसगढ़ के रायपुर स्थित नवकार ज्वेलर्स से बीते दो अक्टूबर 2021 को चोरों ने 80 लाख के जेवरात की चोरी की थी. वहां से भागने के क्रम में तीन अक्टूबर 2021 को सिमडेगा के बांसजोर ओपी क्षेत्र में चेकिंग के दौरान स्कार्पियो से भारी मात्रा में जेवरात की बरामदगी हुई थी. सिमडेगा के एसपी ने छह अक्टूबर के प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि पांच अक्टूबर को चेकिंग के दौरान दो आरोपित को गिरफ्तार किया गया हैं. इनके पास से चोरी के 25 लाख के जेवरात बरामद किए गए हैं. जबकि गिरफ्तारी चार आरोपितों की हुई थी. इस बरामदगी के लिए एसपी ने बांसजोर ओपी प्रभारी सहित चेकिंग में शामिल पुलिसकर्मियों को पुरस्कृत भी किया था.

Find Us on Facebook

Trending News