बेलगाम अपराधियों ने दी पुलिस को खुली चुनौती, सीतामढ़ी में सीमेंट व्यवसायी के हत्यारे ने फेंका धमकी भरा पर्चा

बेलगाम अपराधियों ने दी पुलिस को खुली चुनौती, सीतामढ़ी में सीमेंट व्यवसायी के हत्यारे ने फेंका धमकी भरा पर्चा

सीतामढ़ी : पिछले दो दिनो से सीतामढ़ी अपने अपराधिक घटनाओं को लेकर प्रदेश में चर्चा का केंद्र बन गया है। दारोगा की हत्या और फिर उसके कुछ घंटे के बाद एक सीमेंट व्यापारी की हत्या कर दी जाती है। अपराधी यहीं पर नहीं रुकते हैं, हत्या की घटना के बाद अपराधी अब जिले के सभी व्यापारियों को धमकी दे रहे हैं कि अगर रंगदारी नहीं दी तो इसके गंभीर परिणाम सामने आ सकते हैं।

बताया गया कि सीमेंट व्यवसायी की हत्या के महज 15 से 16 घंटे बीतने के बाद अपराधियो ने खुले तौर पर धमकी भरा पर्चा फेंक एक बार फिर पुलिस को खुली चुनौती दे डाली है। अपराधी ने पर्चा मृत सीमेंट व्यवसायी के मोहनपुर स्थित दुकान के बाहर फेका है। पर्चे में अपराधी ने न सिर्फ अपना नाम पता बताया है, बल्कि रंगदारी न देने पर इसी तरह का अंजाम भुगतने के लिए जिले के व्यवसाइयों को धमकी भी दे  डाली है। 

बता दे की घटना के बाद जहाँ पुलिस परिजनों और मीडिया को अपराधी को पकड़ने की बात कह रहे थे। तो वही मोहनपुर के एक अपराधी के द्वारा बीती गुरुवार की देर शाम मीडिया को फोन कर अपने नाम का खुलासा किया गया था। जिसके बाद आज शुक्रवार की अहले सुबह धमकी भरा पर्चा मिला है। जिसमे लिखा है की सभी पर ब्लू स्याही से लिखा था, श्री गणेशाय नमः, जो भी रंगदारी नही देगा उसका अंजाम यही होगा। नाम की जगह पर यादव लिखा हुआ है। स्थानीय लोगों की मानें तो विवेक यादव पूर्व में भी कई मामलों का आरोपित है तथा जेल भी जा चुका है। हालांकि पुलिस रात को ही विवेक के परिजनों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। 

पुलिस की सुस्ती के कारण बच निकला विवेक 

 घटना स्थल पर रात में पुलिस की ड्यूटी लगाई गई थी। जबकी वहां कोई पुलिस पदाधिकारी रात में न था, स्थानीय लोगो की माने तो अगर पुलिस अपने ड्यूटी पर मुस्तैद रहती तो तो शातिर अपराधी इस तरह का खुला चैलेंज न दे पाता या पकड़ा जाता। लेकिन पुलिस की सुस्ती के कारण अपराधी ने इसका फायदा उठा उसी जगह धमकी भरा पर्चा फेक जिले में भय का माहौल सा कायम कर दिया है। वही आज सुबह जब व्यवसाई के दुकान के आस पड़ोस के लोग जगे तो दुकान के पास चार पर्चा फेका मिला।  जिसकी सूचना पर पहले स्थानीय चौकीदार वहा पहुँचा और बाद में दरोगा मो इलियास हुसैन ने पहुँच कर पर्चा को जब्त कर ले गए है। 

Find Us on Facebook

Trending News