STF की बड़ी कार्रवाई, 50 हजार का इनामी अपराधी गिरफ्तार

STF  की बड़ी कार्रवाई, 50 हजार का इनामी अपराधी गिरफ्तार

लखीसराय- लोकसभा चुनाव को लेकर पुलिस मुख्यालय चुनावी मोड काम कर रही है। मुख्यालय की नजर फरार चल रहे अपराधियों पर है। इसी कड़ी में बिहार पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स ने लखीसराय के इनामी अपराधी को गिरफ्तार कर लिया है. पचास हजार रूपए के इनामी अपराधी दिलखुश कुमार को काफी मशक्कत के बाद गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार अपराधी को लखीसराय जिला पुलिस के हवाले कर दिया गया है.

बभनगामा गांव से हुई गिरफ्तारी

बिहार पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स के आईजी सुशील मानसिंह खोपड़े के निर्देश पर एसओजी वन की टीम का गठन किया गया था. एसओजी वन की टीम अपराधी दिलखुश के पीछे कई दिनों से लगी थी. इस दौरान  एसओजी वन की टीम को पक्की सुचना मिल गई। सूचना के बाद टीम को लखीसराय के लिए रवाना कर दिया गया।

रात के अंधेरे में हुई इस गिरफ्तार के बाद गांव में सनसनी

लखीसराय थाना क्षेत्र के बभनगामा गांव में बिहार एसटीएफ की इस कार्रवाई के बाद गांव में सनसनी फैल गई। बताया जा रहा है कि गांव में इस अपराधी की खौफ कुछ इस कदर थी कि कोई भी इसके खिलाफ आवाज नही उठाता था। ग्रामीण आरटीआई कार्यकर्ता रामबिलास सिंह हत्याकांड का मुख्य आरोपी था। उसके विरुद्ध कोर्ट में ट्रायल भी चल रहा था।इसके अलावे रंगदारी, लूट  सहित सात संगीन मामलों में भी बांछित था। उक्त अपराधी ने अपने गांव में एक मजबूत नवोदित अपराधी गिरोह बना रखा था। जिसके आतंक से इलाके के लोग काफी दहशत में रहते थे। 

डीजीपी ने 50 हजार का इनाम घोषित किया था

राज्य के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने आठ मार्च को फरार अपराधी दिलखुश  कुमार को इनामी घोषित करते हुए उसकी गिरफ्तारी पर 50 हज़ार इनाम की घोषणा की थी। डीजीपी द्वारा उक्त अपराधी को इनामी घोषित किये जाने के चौथे दिन ही एसटीएफ के एसओजी वन की टीम ने इसे गिरफ्तार कर लिया।अपराधी दिलखुश पुलिस के डर से अपने गांव और ससुराल रामपुर में छिपकर रह रहा था। एसटीएफ के राडार पर मंगलवार को सुबह से ही उक्त अपराधी था। जब वह अपने गाँव मे सुरक्षित ठिकाने पर पहुंचा ही था।कि एसटीएफ ने उसे दबोच लिया।

Find Us on Facebook

Trending News