दरभंगा इंजीनियरिंग कॉलेज के हॉस्टल में फंदे पर झूलती मिली छात्र की लाश, पिता ने कहा- 'आत्महत्या' नहीं 'हत्या' की गई

दरभंगा इंजीनियरिंग कॉलेज के हॉस्टल में फंदे पर झूलती मिली छात्र की लाश, पिता ने कहा- 'आत्महत्या' नहीं 'हत्या' की गई

DARBHANGA : इंजीनियरिंग कॉलेज ऑफ दरभंगा के हॉस्टल में शुक्रवार की देर शाम कमरे में एक छात्र फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना के संबंध में बताया जा रहा है की सत्र 2019-23 बेच के तृतीय सेमेस्टर के नवादा जिला के पुरानी जेल रोड स्थित शक्लदीप प्रसाद यादव के 21 वर्षीय पुत्र नयन यादव रोज की तरह शाम में जब दूध लेने के लिए रूम से बाहर नहीं निकला। तो छात्रों के द्वारा उसके दरवाजे को खटखटाया गया। जब अंदर से गेट नहीं खुला तो हॉस्टल के छात्रों ने शंका जाहिर करते हुए, कमरे का दरवाजा तोड़ा। तो देखा कि नयन फंखे से लटक रहा है। 

जिसके बाद छात्रों के द्वारा आनन-फानन में उसे पंखे से उतारा और इलाज के लिए कॉलेज के बगल में एक निजी अस्पताल ले गया। जहां डॉक्टर उपलब्ध नहीं रहने के कारण पहले अस्पताल प्रबंधन भर्ती लेने से इंकार कर दिया। लेकिन छात्रों ने जब हंगामा किया तो अस्पताल में उसे भर्ती किया गया। लेकिन रात्रि के लगभग 10 बजे डॉक्टर ने नयन को मृत घोषित कर दिया। वहीं घटना की सूचना मिलते ही मब्बी ओपी थानाध्यक्ष राजकुमार सिंह मौके पर पहुंचे बड़ी मसक्कत के बाद मामले को शांत कराया।तथा शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए डीएमसीएच भेजते हुए मामले की जांच में जुट गई है। 


मेरा बेटा आत्महत्या नहीं कर सकता...

वहीं मृतक छात्र के पिता शक्लदीप प्रसाद यादव ने कहा कि हॉस्टल से घटना के संबंध में फ़ोन आया था। सूचना मिलते ही यहां के लिए हमलोग निकल गए। यहां आए तो पता चला कि मेरा बेटा अब इस दुनिया मे नहीं रहा। वहीं उन्होंने कहा कि मेरा बेटा नयन आत्महत्या नहीं कर सकता है। वही उन्होंने शंका जाहिर करते हुए कहा कि उसके साथ किसी प्रकार का हादसा हुआ है। हमने थाना में इसकी निष्पक्ष जांच के लिए लिखित आवेदन दिया है। ताकि हम न्याय और हमारे बेटा के आत्मा को शांति मिल सके। 


Find Us on Facebook

Trending News