दशकों बाद ऐसी स्थिति! तबाही के साथ गया के लोगों के लिए वरदान साबित हुई यास के कारण हुई मूसलाधार बारिश, जानिए कैसे

दशकों बाद ऐसी स्थिति! तबाही के साथ गया के लोगों के लिए वरदान साबित हुई यास के कारण हुई मूसलाधार बारिश, जानिए कैसे

GAYA : चक्रवातीय तूफान यास (Cyclone Yaas) के कारण बिहार के कई जिलों में तीन दिनों से लगातार बारिश हो रही है। जिसके कारण भारी नुकसान हुआ है। इन सबके बीच तूफान के कारण गया जिले को थोड़ा फायदा भी हुआ है। बारिश के कारण मई महीने में दशकों बाद फल्गु नदी में पानी जमा हुआ है। दो दिन पहले नदी में धूल उड़ रही थी, वहीं अब यहां पानी भरा हुआ है। जिसका फायदा पेयजल की समस्या का सामना कर रहे शहर के लोगों को मिलेगा।  

झारखंड से आया पानी

जेठ महीने में नदी में पानी आने से शहरवासियों में खुशी देखी जा रही है। क्योंकि तीन महीने से चला आ रहा जलसंकट अब समाप्त होने की उम्‍मीद  जो है।  झारखंड (jharkhand) में हो रही मूसलाधार बारिश से जेठ के महीने में फल्गु नदी (Falgu River) में शुक्रवार दोपहर के समय पानी आ गया। नदीदोनों किनारे को छूते हुए पानी बह रहा है। नदी में पानी लाल बह रहा है। पानी में पूरा छाक भी है।  गौरतलब है कि फल्‍गु नदी झारखंड के पलामू जिले से निकलती है।

पिंडदानियों को अब नहीं होगी परेशानी

फल्गु में मई महीने में पानी कई दशकों बाद आया है। यहां रहनेवाले लोगों ने कहा कि गंगा दशहरा के समय नदी में कई वर्ष पहले पानी रहता था। पिछले कुछ वर्षो से पानी नहीं आ रहा है। वहीं यहां के पुरोहितों ने बताया कि नदी में पानी आने से पिंडदानियों को पिंडदान के साथ तर्पण करने में अब आसानी होगी। क्योंकि नदी में पानी पांच महीने से नहीं था। साथ ही जलस्तर में भी वृद्धि होगी। जिससे शहर में जलसंकट दूर होगा।

नगर निगम को भी मिली राहत

फल्गु नदी में पानी आने से नगर निगम ने भी राहत की सांस ली है। क्योंकि टैंकर से हो रही जलापूर्ति लगभग आधी हो जाएगी।शहर में पानी की किल्लत को देखते हुए नगर निगम 40 टैंकर से आपूर्ति कर रहा था। लेकिन जलस्तर में वृद्धि होने से टैंकर की संख्या कम जाएगी।चापाकल में पानी आना शुरू हो जाएगा। 


Find Us on Facebook

Trending News