तीन बाहुबलियों ने संभाला मुंगेर में मोर्चा, ललन सिंह की जीत सुनिश्चित करने के लिए झोंकी ताकत

PATNA :  बिहार में मुंगेर लोकसभा क्षेत्र का चुनाव काफी दिलचस्प हो गया है। जदयू की तरफ से राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह मैदान में हैं। दूसरी तरफ कांग्रेस के टिकट पर मोकामा के निर्दलीय विधायक अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी चुनाव मैदान में हैं। अनंत सिंह अपनें आप को बाहुबली मानते हों लेकिन उनको घर में हीं घेरने के लिए तीन पहलवान मैदान में उतर गए हैं। मुंगेर के जदयू प्रत्याशी ललन सिंह की तरफ से तीन बाहुबलियों नें मोर्चा संभाल लिया है।

हर मोर्चे पर अनंत सिंह को घेरने की रणनीति

कांग्रेस प्रत्याशी नीलम देवी के पति अनंत सिंह की घेराबंदी के लिए मोकामा के दो बाहुबली और तीसरा भोजपुर का बाहुबली मुंगेर में उतर गया है।जदयू प्रत्याशी ललन सिंह के लिए बाहुबली पूर्व सांसद सुरजभान सिंह, मोकामा के दबंग ललन सिंह और भोजपुर के बाहुबली पूर्व विधायक व लोजपा नेता सुनील पाण्डेय ने पूरी ताकत झोंक दी है। तीनों बाहुबली मुंगेर के इलाकों में अपने प्रत्याशी को जीताने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रहे हैं।

कौन हैं अनंत सिंह?

पूर्व सांसद  सुरजभान सिंह विधायक अनंत सिंह का नाम सुनना भी नहीं चाहते।वे कहते हैं कि ये अनंत सिंह कौन है?हम किसी अनंत सिंह को नहीं जानते।सुरजभान सिंह ने कहा कि इस बार के चुनाव में औकात पता चल जाएगा।उन्होनें दावा किया कि मुंगेर के जदयू प्रत्याशी ललन सिंह बिहार में सबसे अधिक मतों से चुनाव जीतेंगे।इस बड़ी जीत के पीछे वे पीएम मोदी,सीएम नीतीश कुमार और पार्टी के उम्मीदवार ललन सिंह को कारण मानते हैं।सुरजभान सिंह नें कहा कि आज कुछ लोग दावा कर रहे हैं कि जमानत जब्त करा देंगे तो यह उनकी भूल है।

मुंगेर में तो लड़ाई है हीं नही

दूसरे बाहुबली भोजपुर के सुनील पाण्डेय हैं। पूर्व विधायक सुनील पाण्डेय लोजपा में हैं।लिहाजा ये भी मुंगेर में एनडीए प्रत्याशी ललन सिंह के लिए जमकर मिहनत कर रहे हैं।उन्होनें कहा कि मुंगेर में तो लड़ाई है हीं नहीं।मुंगेर में जो कांग्रेस के उम्मीदवार हैं उनका कोई वजूद नहीं है।सुनील पाण्डेय ने कहा कि सुशासन की सरकार में अनंत सिंह जैसे लोगों के लिए कोई स्थान हीं नही है।मुंगेर की जनता पूरी तौर पर भय मुक्त होकर मतदान करेगी।

Find Us on Facebook

Trending News