'तेजस्वी' के सामने 'नीतीश' का सरेंडर ! अपने शिक्षा मंत्री पर बोले मुख्यमंत्री- अभी तो डिप्टी CM ने सब कह दिया है..हमने पहले ही समझा दिया था

'तेजस्वी' के सामने 'नीतीश' का सरेंडर ! अपने शिक्षा मंत्री पर बोले मुख्यमंत्री- अभी तो डिप्टी CM ने सब कह दिया है..हमने पहले ही समझा दिया था

PATNA: राजद कोटे से नीतीश कैबिनेट में शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने रामचरितमानस को नफरत पैदा करने वाला ग्रंथ बताया. जेडीयू ने इस पर गहरी आपत्ति दर्ज की । जेडीयू की तरफ से राजद नेतृत्व पर चंद्रशेखर के खिलाफ कार्रवाई का दबाव बनाया गया. लेकिन तेजस्वी यादव चंद्रशेखर के खिलाफ किसी तरह की कार्रवाई करने की बजाय पक्ष में खड़े दिखे. अब सीएम नीतीश ने भी अपनी चुप्पी तोड़ी है.

सीएम नीतीश बोले-चंद्रशेखर पर डिप्टी सीएम ने सब कह दिया है

रामचरितमानस पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले शिक्षा मंत्री पर कोई कार्रवाई नहीं होगी. यह करीब-करीब साफ हो गया है। जेडीयू की मांग को राजद नेतृत्व ने खारिज कर दिया है। ऐसे में राजद के सामने जेडीयू का सरेंडर होगा...इसकी पूरी संभावना बनते दिख रही है. क्यों कि सीएम नीतीश ने आज कहा है कि चंद्रशेखऱ के बयान पर आज डिप्टी सीएम ने भी कह दिया है. हम तो पहले ही समझा दिये थे. अरवल समाधान यात्रा के क्रम में सीएम नीतीश ने कहा कि इन चीजों (धर्म) पर कोई भी बात नहीं करना चाहिए. चाहे कोई भी धर्म को मानने वाले लोग हैं, उसमें किसी तरह का इंटरफेरेंस नहीं करनी चाहिए. जो चाहें धर्म का पालन करें, सबको इज्जत मिलनी चाहिए. इसमें किसी तरह का हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए. जिसको जो मन करें उसकी पूजा करें. इन सब चीजों पर क्वेश्चन नहीं करना चाहिए .हमने तो पहले ही समझा दिया था. अभी तो डिप्टी सीएम ने भी सब कह दिया है. इसलिए इस पर कोई बात नहीं है.

जानें डिप्टी सीएम ने क्या कहा...

पटना में मीडिया से बात करते हुए तेजस्वी यादव ने अपनी मंशा साफ कर दी। उनसे पूछा गया कि सुशील मोदी ने कहा कि नुपुर शर्मा ने जब आपत्तिजनक टिप्पणी की थी तो भाजपा ने उन पर कार्रवाई किया था. आपको भी चंद्रशेखर के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। इस पर तेजस्वी यादव ने साफ कर दिया कि कार्रवाई नहीं होगी. उन्होंने कहा, ''हम उनकी बातों का जवाब नहीं देना चाहते हैं. यह सब कोई एजेंडा नहीं है, बेकार की बातें हैं. यह सब कितना दिन तक एक ही बात को खींचते रहिएगा. यह कोई एजेंडा है क्या...।''

बता दें, शिक्षा मंत्री चंद्रशेखऱ ने रामचरितमानस को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। उन्होंने कहा था कि यह ग्रंथ नफरत फैलाने वाला है. शिक्षा मंत्री के इस बयान के बाद देशभर में बवाल मच गया है. राजद की सहयोगी जेडीयू ने भी इस पर गहरी नाराजगी जताई और चंद्रशेखऱ के खिलाफ एक्शन लेने को कहा. लेकिन तेजस्वी यादव आज दूसरी दफे शिक्षा मंत्री के पक्ष में खड़े दिखे. अब साफ हो गया है कि राजद नेतृत्व न तो सुधाकर सिंह पर कोई कार्रवाई करेगा और न ही चंद्रशेखऱ पर. अब देखना होगा कि तेजस्वी के इंकार के बाद जेडीयू नेतृत्व का अगला कदम क्या होता है. 

Find Us on Facebook

Trending News