सुशील मोदी ने किया क्लियर, बिहार में बड़े उद्योग लगने की संभावना कम, एग्रो बेस्ड इंडस्ट्री ही लगेगी

सुशील मोदी ने किया क्लियर, बिहार में बड़े उद्योग लगने की संभावना कम, एग्रो बेस्ड इंडस्ट्री ही लगेगी

PATNA: बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा है कि बिहार में बड़े उद्योग लगाने में परेशानी है। क्योंकि बिहार कृषि प्रधान राज्य है और बड़े उद्योग को जमीन देने में परेशानी होती है। इसलिए यहां पर छोटे-मोटे उद्योग, एग्रोबेस उद्योग लगाए जा रहे हैं।उन्होंने कहा कि अब तक कई एग्रो बेस्ड उद्योग लगाए भी गए हैं। कई एग्रो बेस्ड उद्योग लगाने का प्रस्ताव विचाराधीन है। उन्होंने कहा कि जल्द ही कई एग्रो बेस्ड उद्योग शुरु हो जाएगा।

ये भी पढ़ें - लोन लेने वालों के लिए अच्छी खबर, देश के 400 जिलों में बैंको द्वारा लगाया जाएगा ‘ग्राहक मेला शिविर’

सुशील मोदी ने कहा कि हम लोगों ने कभी नहीं कहा था कि हम बिहार में बड़े उद्योग लगाएंगे।उन्होंने कहा कि बिहार में छोटे उद्योग लगाने की संभावना ज्यादा है और बिहार सरकार इस दिशा में प्रयासरत है।बीजेपी प्रदेश कार्यालय में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में मोदी ने कहा कि  अर्थव्यवस्था को मजबूत कने को लेकर भारत सरकार के नए कदम से बिहार हीं नहीं बल्कि पूरे देश में फायदा मिलने वाला है। उन्होंने कहा कि आगामी त्यौहार के मौसम में बैंक देश के 400 जिलों में ग्राहक मेला शिविर लगाने जा रहा है। जहां लोगों को खूदरा, कृषि, वाहन, घर, लघू एवं कुटीर उद्योग, शिक्षा, व्यक्गित उपभोक्ता ऋण संबंधी जानकारी एवं ऋण उपलब्ध कराया जाएगा

उन्होंने बताया कि पहले चरण में 3 से 7 अक्टूबर के दौरान 250 जिलों तथा दूसरा चरण में 150 जिलों में 19 से 21 अक्टूबर के बीच शिविर लगाया जाएगा।सुशील मोदी ने कहा कि पहले चरण में बिहार के मुजफ्फरपुर, मधेपुरा, शेखपुरा, दरभंगा, कटिहार, गया, नवादा, पटना, पूर्णिया, सुपौल, बेगूसराय, समस्तीपुर जिला में शिविर का आयोजन किया जाएगा।

ये भी पढ़ें - नौकरी की तलाश में जुटे युवक-युवतियों के लिए खुशखबरी, बिहार सरकार इस विभाग में नए पदों के लिए निकली बंपर वेकैंसी

Find Us on Facebook

Trending News