बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने की मांग, कहा सम्राट अशोक के लघु शिलालेख को अतिक्रमण मुक्त कराए सरकार

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने की मांग, कहा सम्राट अशोक के लघु शिलालेख को अतिक्रमण मुक्त कराए सरकार

PATNA : बिहार सरकार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और राज्य सभा सांसद सुशील कुमार मोदी ने रोहतास जिले के चंदन पहाड़ी पर मौर्यवंशीय सम्राट अशोक के 2300 वर्ष पुराने शिलालेख को अतिक्रमित कर निर्मित उपासना स्थल से अतिशीघ्र मुक्त कराने की मांग की है। अन्यथा अशोक के बिहार भर के वंशजों को शिलालेख मुक्त कराने के लिए “रोहतास चलो” का कार्यक्रम घोषित करना पड़ सकता है।


मोदी ने कहा कि 1917 ई0 में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने इसे संरक्षित स्थल घोषित किया था। लेकिन 2005 में इसे अतिक्रमित कर गुफा के दरवाजे पर ताला लगाकर एक समुदाय विशेष द्वारा पूजा स्थल में परिवर्तित कर दिया गया। 

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने 2005 के बाद बिहार सरकार को दर्जनों पत्र लिखें। लेकिन इसे अतिक्रमण से मुक्त नहीं किया जा सका। मोदी ने कहा की बिहार में 2005 से गृह विभाग मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जिम्मे है। इसके बावजूद उन्होंने कभी इसे अतिक्रमण मुक्त कराने का प्रयास नहीं किया।

ज्ञातव्य है कि बिहार में सर्वप्रथम भाजपा ने सम्राट अशोक की जयंती मनाना प्रारंभ किया था। भाजपा के दबाव में सम्राट अशोक जयंती पर सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया। मोदी ने कहा कि इस पूरे प्रकरण को हिंदू-मुस्लिम की दृष्टि से देखना उचित नहीं होगा। देश की विरासत पर अतिक्रमण किसी भी धर्मावलंबी के द्वारा हो उसे मुक्त कराना सरकार का दायित्व है।

Find Us on Facebook

Trending News