निलंबित IPS राकेश दुबे की काली कमाई! फुलवारी SDPO रहते काफी जमीन खरीदी, मनी लॉन्ड्रिंग कर काले धन को 'सफेद' बनाया

निलंबित IPS राकेश दुबे की काली कमाई! फुलवारी SDPO रहते काफी जमीन खरीदी, मनी लॉन्ड्रिंग कर काले धन को 'सफेद' बनाया

PATNA: आर्थिक अपराध इकाई ने आज निलंबित आईपीएस अफसर राकेश दुबे के ठिकानों पर छापेमारी की है. छापेमारी में अकूत संपत्ति का पता चला है. अब तक की तलाशी में दो करोड़ 55 लाख 49 हजार ₹691 की आय से अधिक संपत्ति अर्जित किए जाने का साक्ष्य मिला है. जांच में पता चला है कि निलंबित एसपी राकेश दुबे मित्रों-परिजनों के माध्यम से मनी लॉन्ड्रिंग कर काले धन को सफेद बनाने का प्रयास किया है। बालू खनन में निलंबित एसपी राकेश दुबे ने बड़े पैमाने पर जमीन भी खरीदी है। 

फुलवारीशरीफ SDPO रहते जमीन भी खरीदी

आर्थिक अपराध इकाई की तरफ से जानकारी दी गई है कि जब वे फुलवारीशरीफ में एसडीपीओ के पद पर पदस्थापित थे इस दौरान काफी जमीन खरीदे जाने की सूचनी मिली है। इसकी जानकारी इकट्ठा की जा रही है।  

पाटलिपुत्र बिल्डर के अनिल सिंह समेत 6 बिल्डरों की कंपनी में पैसा लगाने का साक्ष्य

आर्थिक अपराध इकाई की तरफ से बताया गया है कि भोजपुर के तत्कालीन एसपी राकेश दुबे पटना एवं देश के कई अन्य शहरों में रियल एस्टेट कंपनियों में बड़ी मात्रा में निवेश किये हैं. अभी तक की जांच में जो जानकारी मिली है उसके अनुसार आईपीसी इंफ्रास्ट्रक्चर देवघर-रांची, कामिनी इंफ्रास्ट्रक्चर निदेशक जावेद खान, पाटलिपुत्र बिल्डर निदेशक अनिल कुमार, ख्याति कंस्ट्रक्शन, मैक्स ब्लिफ, नोएडा बिल्डकॉन एवं कई अन्य बिल्डर्स की कंपनी में निवेश किया है. उनकी कंपनियों में नगद राशि का निवेश किया गया है.

ख्याति कंस्ट्रक्शन के खाते में भेजे 25 लाख 

निगरानी न्यायालय से सर्च वारंट मिलने के बाद पटना में दो जगह आनंदपुरी और अभियंता नगर स्थित फ्लैट और मकान में छापेमारी की गई. वहीं झारखंड के जसीडीह स्थित सचिंद्र रेजिडेंसी एवं उनके पैतृक गांव सिमरिया में छापेमारी की गई. निलंबित आईपीएस अधिकारी के विभिन्न बिल्डर से व्यवसायिक संबंध होने के साक्ष्य मिले हैं. आज की तलाशी में पाया गया कि इन्होंने ख्याति कंस्ट्रक्शन के बैंक खाते में 25 लाख रुपए हस्तांतरित किए हैं . इनके द्वारा अवैध तरीके से कमाए करोड़ों रुपए सूद पर लगाए गए हैं. फुलवारी शरीफ में एसडीपीओ के पद पर पदस्थापन के दौरान काफी जमीन क्रय किए जाने की सूचना है. राकेश दुबे की मां एवं बहन के नाम से भी कई चल-अचल संपत्ति होने की जानकारी मिली है जिसका सत्यापन किया जा रहा है.

अवैध कमाई का पैसा कई जगह लगाया

ईओयू की तरफ से बताया गया है कि झारखंड के जसीडीह में सचिंद्र रेजिडेंसी होटल, सुखरानी रेस्टोरेंट्स एवं मैरिज हॉल के निर्माण में अवैध कमाई निवेश है। राकेश दुबे के द्वारा स्वयं तथा अपनी पत्नी के नाम पर म्यूचुअल फंड में करीब 12 लाख रुपये निवेश किए गए हैं. इन्होंने अपनी सेवा काल में वेतन खाता से नगद रुपए की निकासी न के बराबर की है. अब तक की तलाशी में दो करोड़ 55 लाख 49 हजार ₹691 की आय से अधिक संपत्ति अर्जित किए जाने का साक्ष्य मिला है.आर्थिक अपराध इकाई ने बताया है कि तलाशी में कई महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद हुए हैं जिसकी जांच की जा रही है.

Find Us on Facebook

Trending News