बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • मोतिहारी पुलिस ने अपराध की योजना बनाते 3 बदमाशों को किया गिरफ्तार, हथियार और जिन्दा कारतूस किया बरामद
  • मोतिहारी पुलिस ने अपराध की योजना बनाते 3 बदमाशों को किया गिरफ्तार, हथियार और जिन्दा कारतूस किया बरामद

  • शेखपुरा में सहित हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा, कहा प्रेम प्रसंग को लेकर हत्या, पुलिस ने 5 आरोपियों को किया गिरफ्तार
  • शेखपुरा में सहित हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा, कहा प्रेम प्रसंग को लेकर हत्या, पुलिस ने 5

  • बीजेपी ने राजद-कांग्रेस पर कसा तंज, कहा वन नेशन-वन इलेक्शन से भयभीत हैं परिवारवाद वाली पार्टियां
  • बीजेपी ने राजद-कांग्रेस पर कसा तंज, कहा वन नेशन-वन इलेक्शन से भयभीत हैं परिवारवाद वाली पार्टियां

  • बांका में देशी कट्टा के साथ गिरफ्तार युवक ने की पुलिस को गुमराह करने की कोशिश, हत्याकांड का निकला आरोपी
  • बांका में देशी कट्टा के साथ गिरफ्तार युवक ने की पुलिस को गुमराह करने की कोशिश, हत्याकांड का

  • कोरोना काल में निकला था विज्ञापन, अब चार साल बाद बिहार में आयुष चिकित्सकों का रिजल्ट जारी
  • कोरोना काल में निकला था विज्ञापन, अब चार साल बाद बिहार में आयुष चिकित्सकों का रिजल्ट जारी

  • बांका में अनियंत्रित ट्रक ने पुलिस वाहन में मारी टक्कर, तीन पुलिसकर्मी हुए जख्मी, अस्पताल में चल रहा है इलाज
  • बांका में अनियंत्रित ट्रक ने पुलिस वाहन में मारी टक्कर, तीन पुलिसकर्मी हुए जख्मी, अस्पताल में चल रहा

  • हाजीपुर पुलिस पर लगा बर्बरतापूर्वक मारपीट करने का आरोप, पीड़ित ने एसपी से मांगा इंसाफ
  • हाजीपुर पुलिस पर लगा बर्बरतापूर्वक मारपीट करने का आरोप, पीड़ित ने एसपी से मांगा इंसाफ

  • मुंगेर में पर्यावरण सुरक्षा की तेज हुई कवायद, गंगा नदी में छोड़े गए मछलियों के 4 लाख से अधिक बिचड़े
  • मुंगेर में पर्यावरण सुरक्षा की तेज हुई कवायद, गंगा नदी में छोड़े गए मछलियों के 4 लाख से

  • लखीसराय सड़क हादसे के बाद फूटा लोगों का गुस्सा, सड़क जाम कर की आगजनी, एसडीओ ने मुआवजे का दिया आश्वासन
  • लखीसराय सड़क हादसे के बाद फूटा लोगों का गुस्सा, सड़क जाम कर की आगजनी, एसडीओ ने मुआवजे का

  • आम लोगों की तरह ट्रैफिक सिग्नल पर रुकेगी मुख्यमंत्री की गाड़ी, भाजपा शासित इस राज्य के सीएम ने लिया फैसला
  • आम लोगों की तरह ट्रैफिक सिग्नल पर रुकेगी मुख्यमंत्री की गाड़ी, भाजपा शासित इस राज्य के सीएम ने

सुपौल जिले में दिखा तालिबानी कानून. प्रेमिका से मिलने उनके घर पहुंचे प्रेमी की हाथ-पैर बांधकर की पिटाई, गांव में घुमाते हुए वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

सुपौल जिले में दिखा तालिबानी कानून. प्रेमिका से मिलने उनके घर पहुंचे प्रेमी की हाथ-पैर बांधकर की पिटाई, गांव में घुमाते हुए वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

SUPOUL : सुपौल के छातापुर थाना पुलिस के नाक के नीचे लोगों का तालिबानी चेहरा सामने आया है। यहां कानून की धज्जियां उड़ाते हुए लोगों ने एक प्रेमी जोड़े की न सिर्फ बेरहमी से पिटाई की, बल्कि उनके चेहरे पर कालिख पोतने के बाद हाथ पैर बांधकर गांव में घूमाया गया। हद तो तब हो गई, जब इस पूरी घटना की वीडियो बनाकर उसे सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया गया। अब यह वीडियो वायरल हो गया है। लेकिन इसके बाद भी पुलिस की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं की गई है। 

सुपौल में शासन- प्रसाशन का भय  खत्म हो चुका है.  यहां लोग खुद अपना फैसला सुनाते हैं। मामला छातापुर थाना क्षेत्र से है. जहां नरहैया गांव मे सोमवार की रात शादी शुदा युवक ने महिला से नाजायज़ संबंध को लेकर ग्रामीणों ने रंगें हाथ पकड़ लिया। फिर ग्रामीणों ने दोनो की जम कर क्लास ले ली। इतने पर भी उनका मन नहीं भरा तो  दोनों की जमकर धुनाई कर दी और फिर उसके बाद भी स्थानीय लोगों ने मंगलवार की सुबह दोनो प्रेमी और प्रेमिका को पकड़ कर सरे-आम स्थानीय लोगों के सामने लाया फिर दोनों का हाथ पैर बांध कर प्रेमी युवक के माथे पर कालिख और चुना पोत कर पूरा गांव घूमाया। बता दें की किसी ने सारा माजरा कैमरा में कैद कर लिया. इसके बाद घटना की चर्चा ग्रामीणों में आग की तरह फ़ैल गईं. 


पहले से थी गांव वालों की नजर

बताया जाता है कि उक्त प्रेमिका के पति गांव से बाहर रहकर मजदूरी करते हैं, दोनो की प्रेम प्रसंग की सिलसिला गांव वाले को पहले से ही मालूम था, लेकिन गांव वालों को मौके की तलाश थी। जैसे ही युवक विवाहित प्रेमिका से मिलने के लिए पहुंचा, लोगों ने उन्हें पकड़ लिया। हालांकि इस दौरान पीड़िता ने यह कहती रही कि लोग गलत समझ रहे हैं, तबीयत खराब होने की वजह से वह सिर्फ दवाई लेकर आया था, लेकिन किसी ने उनकी बात नहीं सुनी। रात में दोनों की लोगों ने पिटाई की। फिर लोगों के सामने खड़ी कर उन्हें बेइज्जत किया गया और बाद में हाथ पैर बांध कर घुमाया गया।

हाथ पर हाथ धरी बैठी रही पुलिस

आश्चर्य की बात यह थी कि गांव में हुए इस घटना की जानकारी पुलिस को तब तक नहीं हुई, जब तक कि घटना का वीडियो वायरल नहीं हुआ। गांव के लोग कानून को ताक पर रखकर शर्मनाक हरकत करते रहे, लेकिन पुलिस ने अब तक किसी के खिलाफ कार्रवाई करने की जहमत नहीं उठाई। अब इंतजर  इस तरह के लोगों पर जो कानून को हाथों में लेकर फैसला सुनाते हैं. ऐसी लोगों पर क्या कार्यवाही होती है. यह देखने वाली बात होगी. हालांकि इन घटनाओं को लेकर आम लोगों में चर्चा की विषय बना हुआ है.