भ्रष्टाचार एवं गरीबों पर हो रहे जोर जुल्म के खिलाफटीम अजीत कुमार ने किया विशाल आक्रोश पूर्ण प्रदर्शन, कहा - अधिकारी- कर्मचारी संभले , नहीं तो होगी आर- पार की लड़ाई

भ्रष्टाचार एवं गरीबों पर हो रहे जोर जुल्म के खिलाफटीम अजीत कुमार ने किया विशाल आक्रोश पूर्ण प्रदर्शन, कहा - अधिकारी- कर्मचारी संभले , नहीं तो होगी आर- पार की लड़ाई

MUZAFFARPUR :जिले में व्याप्त प्रशासनिक भ्रष्टाचार एवं गरीबों पर हो रहे जोर जुल्म के खिलाफ मंगलवार को टीम अजीत कुमार  ने मरबन प्रखंड मुख्यालय पर विशाल आक्रोश पूर्ण जन प्रदर्शन किया। इस मौके पर टीम अजीत कुमार ने प्रशासनिक भ्रष्टाचार व गरीबों के साथ हो रहे जोर जुल्म के खिलाफ आर पार की लड़ाई लड़ने का भी ऐलान किया। 

  इससे पूर्व मड़बन पेट्रोल पंप के मैदान में प्रखंड के विभिन्न गांवों से हजारों की संख्या में लोग इकट्ठा होकर पूर्व मंत्री अजीत कुमार के नेतृत्व में जुलूस निकाला।  जुलूस में शामिल लोग मड़बन प्रखंड मुख्यालय के विभिन्न मार्गों से गुजर कर सरकार व प्रशासन विरोधी नारा लगाते हुए प्रखंड मुख्यालय पहुंचकर जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के उपरांत प्रखंड मुख्यालय पर टीम अजीत कुमार के अध्यक्ष इंद्रमोहन झा की अध्यक्षता में प्रतिरोध सभा का आयोजन किया गया। 

 इस मौके पर लोगों को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री अजीत कुमार ने कहा कि आज संपूर्ण जिला प्रशासनिक भ्रष्टाचार से  त्रस्त हो गया है। बिना रिश्वत दिए कहीं कोई काम नहीं हो रहा है। खासकर जिले का प्रखंड-  अंचल पूरी तरह बिचौलिए एवं दलालों के गिरफ्त में आ गया है। उन्होंने कहा कि सभी जगह भ्रष्टाचारियों का संरक्षक अधिकारी बने हुए हैं। जिस कारण गरीब लूटे जा रहे हैं । श्री कुमार ने कहा आज ताड़ी- शराब के नाम पर चारों ओर समाज के गरीब तबके के लोग पुलिस द्वारा प्रताड़ित हों रहे हैं , लेकिन गरीबों की  आह भरने बाले सभी बड़े  जनप्रतिनिधि चुप्पी साधे हुए है।  श्री कुमार ने सड़क किनारे एवं पोखर के भिंडा पर बसे गरीबों को इस कड़ाके के  ठंड में प्रशासन द्वारा बेघर किए जाने पर गहरा आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि गरीबों की बात करने वाली यह सरकार गरीबों का भारी दुश्मन है।  

उन्होंने कहा यदि सरकार गरीबों की भला चाहती है तो पहले उनके पुनर्वास का व्यवस्था करें तब उन्हें विस्थापित करें। इस मौके पर श्री कुमार ने कहा कि इस इलाके के सांसद व विधायक गरीबों की सम्मान की रक्षा करने में पूरी तरह विफल साबित हुए हैं। तभी तो यहां गरीब प्रताड़ित हो रहे हैं एवं लूटे जा रहे हैं।

 इस अवसर पर टीम अजीत कुमार ने सत्ता व  शासन के समक्ष खुला मांग पत्र पेश किया । जिसमें प्रशासनिक भ्रष्टाचार समाप्त करने, गरीबों के समस्याओं का प्राथमिकता के साथ निदान करने , ताड़ी को उत्पाद नीति से बाहर कर, इस व्यवसाय से जुड़े लोगों का जमीनी सर्वे कराकर उनके लिए ठोस रोजगार का व्यवस्था करने, ताड़ी-  शराब के नाम पर गरीबों के घर में पुलिस घुसा कर उन्हें प्रताड़ित करने तथा इज्जत लेने जैसे मामले पर रोक लगाने , जिले के सभी पंचायतों में पांच -पांच सरकारी खाद-बीज का दुकान खोलकर ससमय किसानों को खाद - बीज उपलब्ध कराने, परिवारिक राशन कार्ड , सामाजिक सुरक्षा पेंशन तथा प्रधानमंत्री आवास योजना की सुविधा सभी जरूरतमंदों को उपलब्ध कराने , गरीबों को मूलभूत सुविधा उपलब्ध कराने के नाम पर उन्हें लूटने वाले दलाल बिचौलियों को प्रशासनिक संरक्षण देना बंद करने , जमीन का दाखिल खारिज में किए जा रहे वसूली को बंद करने एवं जमीन का रिकार्ड नहीं होने के नाम पर लोगों का आर्थिक शोषण बंद करते हुए जमीन का रिकार्ड दुरुस्त कराने के साथ ही त्रिस्तरीय पंचायत के सभी जनप्रतिनिधियों का सम्मान करते हुए सरकार के द्वारा पंचायत को मिलने वाली राशि में हस्तक्षेप बंद करने की मांग प्रमुख थी। 

सभा को संबोधित करने वालों में सामाजिक कार्यकर्ता मोहम्मद शमीम , अंकेश ओझा , निरंजन साहनी , नागेंद्र गिरी , मुनीलाल साहनी , साकेत रमन पांडे, हाफिज ओजैर राजदीप साह, दिनेश सिंह, उपेंद्र शाह , जिला सरपंच संघ के अध्यक्ष मनोज कुमार सिंह , पूर्व सरपंच मनोज सिंह , मुखिया प्रतिनिधि सुनील कुमार शर्मा, जय किशन कुमार चौहान , अजय चौधरी ,अजय ठाकुर, पूर्व मुखिया मोतिउर रहमान , किसान श्री रामा शंकर सिंह , अवधेश सिंह, मूर्ति देवी, नवल सिंह, शिव शंकर पासवान, अशोक पासवान ,मुरारी झा, पूर्व मुखिया नंदकिशोर सिंह, नागेंद्र पंडित, पैक्स अध्यक्ष रणजीत चौधरी ,राजेश कुमार सिंह, अशोक ठाकुर ,नीरज पासवान, संजय शाह ,फुदेनी यादव, राजकुमार पासवान, सुधीर सिंह, मुन्ना ठाकुर, विनोद शर्मा ,धर्मेंद्र राय ,कन्हाई पासवान ,दिनेश पासवान राम नारायण सिंह, मोहम्मद फिरोज, शंकर पंडित, अजय राय राज किशोर पासवान आदि प्रमुख लोग थे।

Find Us on Facebook

Trending News