जिसके कुशासन को कोर्ट ने जंगलराज की उपमा दी, उसे महिला उत्पीड़न पर बोलने का हक़ नहीं : अरविन्द सिंह

जिसके कुशासन को कोर्ट ने जंगलराज की उपमा दी, उसे महिला उत्पीड़न पर बोलने का हक़ नहीं : अरविन्द सिंह

PATNA : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अरविन्द कुमार सिंह ने कहा है कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव बताएं की राजद शासनकाल में जंगलराज का इतिहास, जो राजद के लोगों द्वारा बिहार के जनता को झूठ बोलकर आज दिग्भ्रमित करने का प्रयास किया जा रहा है। लालू राबड़ी का शासनकाल अपहरण, महिला उत्पीड़न, डकैती, लूट, बलात्कार, क्रूरता और कुशासन के लिए कोर्ट ने जिसे जंगलराज की उपमा दी थी। उस दल के सियासी राजकुमार तेजस्वी यादव को महिला उत्पीड़न पर बोलने का अधिकार नहीं है, जिसके दल का एक समय था कि अधिकांश नेताओं पर महिला उत्पीड़न का केस दर्ज था। जिसका दल नरसंहारों के लिए जाना जाता था।जहां अपराधी अपहरणकर्ता बलात्कारी लुटेरे मुख्यमंत्री आवास में मिलते थे। पुलिस भी जाने से कतराती थी और थाना में केस दर्ज नहीं होता था। उस दल के राजकुमार को अपराध, महिला उत्पीड़न पर बोलने का अधिकार नहीं है। जिसके शासनकाल में बच्चियां स्कूल जाने से डरती थी। शाम 6:00 बजे के बाद घर में कैद हो जाना पडता था। महिलाएं बाजार मे जाने से डरती थी। उस भयावह राजद के इतिहास को बिहार की जनता को भी एक बार बताएं तेजस्वी यादव।

अरविन्द सिंह ने कहा है कि गजब का वह 15 वर्षो का भयावह नरसंहारों वाला दौर था। ना सड़के थी ना बिजली थी, ना थी पानी,बस थी मजदूरों की पलायन की कहानी।डर के मारे गरीब बोल रहे थे बाबू रे बाबू , लालू से जान बचानी है तो बिहार से भागो रे बाबू ,गुंडे बने हुए थे अत्याचारी, जनता कर रही थी त्राहि-त्राहि, बिहार की हालत हो गई थी बिचारी, रोजगार का था बुरा हाल बिहार हो गई थी बेहाल।

उन्होंने कहा की आज एनडीए के डबल इंजन की सरकार में आधुनिक भारत के विश्वकर्मा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार विकास की राह पर है। सुशासन के लिए और जनता के हर सुख दुख में साथ रहने के लिए कटिबद्ध है, यही एनडीए सरकार की पहचान है।

Find Us on Facebook

Trending News