स्व. रामविलास पासवान के बरसी कार्यक्रम में सीएम के शामिल नहीं होने पर बोले तेजस्वी, कहा शिष्टाचार दिखना चाहिए था

स्व. रामविलास पासवान के बरसी कार्यक्रम में सीएम के शामिल नहीं होने पर बोले तेजस्वी, कहा शिष्टाचार दिखना चाहिए था

PATNA : पूर्व केन्द्रीय मंत्री और लोजपा के संस्थापक रामविलास पासवान का बरसी मनाई जा रही है. उनके बेटे और जमुई के सांसद चिराग पासवान ने इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए सत्ता पक्ष और विपश के कई नेताओं को निमंत्रण दिया था. जिसके बाद कई इस कार्यक्रम में शामिल भी हुए. उनके चाचा और केन्द्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए. हालाँकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चिराग पासवान को मिलने का समय नहीं दिया. जिससे उन्हें निमंत्रण नहीं दिया जा सका. लेकिन चिराग ने मीडिया के माध्यम से उन्हें कार्यक्रम में आने के लिए कहा था. 

इसी बीच बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव इस कार्यक्रम में शामिल हुए. उन्होंने पूर्व केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान के चित्र पर पुष्प अर्पित किया और अपनी श्रद्धांजलि दी. वहीँ उन्होंने कहा की रामविलास पासवान अभिभावक रहे हैं. वह बिहार के नहीं बल्कि देश के नेता रहे हैं. उनका स्वभाव मिलनसार रहा है. युगों में ऐसे महापुरुष हमलोगों को मिलते हैं. उन्होंने कहा की हमें ख़ुशी है की वे हमलोगों के नेता रहे हैं. उनके साथ काम करने का हमलोगों का मौका मिला है. कुछ भी कहिये विश्वास नहीं होता की वे हमारे बीच नहीं हैं. 

हमलोग ईश्वर से प्रार्थना करेंगे की उनकी आत्मा को शान्ति प्रदान करे. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नहीं आए इसको लेकर तेजस्वी ने कहा की उनका व्यक्तिगत फैसला है. कोई जबरदस्ती तो कर नहीं कर सकता है. इस पर हम कुछ नहीं कहेंगे. लेकिन वह हम सबसे बड़े हैं. चिराग जी से बड़े हैं. हमसे बड़े हैं और बिहार के 15 साल मुख्यमंत्री रहे हैं. बुजुर्ग भी हैं. हमलोगों के चाचा जैसे हैं. लेकिन एक शिष्टाचार दिखना चाहिए था. प्रधानमन्त्री ने भी श्रद्धांजलि दी है. कई पन्नों में उन्होंने लिखा है. लेकिन नीतीश कुमार ने केवल एक लाइन में लिखा है. हालाँकि इस पर हमलोग राजनीति नहीं करना चाहिए. 

पटना से रंजन की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News