‘सोने का मुकुट पहनने वाले तेजस्वी भूल गए यज्ञधर्म का ज्ञान’, नीरज ने ‘राजकुमार’ पर चलाए तीखे तीर

‘सोने का मुकुट पहनने वाले तेजस्वी भूल गए यज्ञधर्म का ज्ञान’, नीरज ने ‘राजकुमार’ पर चलाए तीखे तीर

पटना. बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के मोकामा दौरे के दौरान उन्हें सोने का मुकुट भेंट किया गया था. अब इसे लेकर जदयू ने तेजस्वी पर तंज कसा है. जदयू के मुख्य प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा है कि ‘यज्ञ में आम लोग सहयोग करते हैं, पर राजकुमार ने यज्ञ से भी सोना का मुकुट लाया’. दरअसल तेजस्वी यादव गुरुवार को एक यज्ञ समारोह में शामिल होने पटना जिले के मोकामा गए थे. वहां मंच पर उनके स्वागत में सोने का मुकुट पहनाया गया. 

नीरज कुमार ने शुक्रवार को ट्वीट कर तेजस्वी के सोने से मुकुट पहनने और उन्हें मुकुट पहनाने वालों से सवाल दागा. तेजस्वी के सोने के मुकुट पहनी फोटो पोस्ट करते हुए नीरज कुमार ने लिखा - घोर कलियुग. अनुकम्पा पर पद तो पा लिया, पर आदत नहीं बदला. सुना है, यज्ञ में आम लोग सहयोग करते हैं, पर राजकुमार ने यज्ञ से भी सोना का मुकुट लाया. उन्होंने तेजस्वी को राजकुमार की संज्ञा देते हुए उनके सोने के मुकुट स्वीकार करने पर सवाल किया.   

लालू-राबड़ी परिवार से जुड़े विभिन्न घोटालों और अनियमितताओं के आरोपों को लेकर नीरज कुमार अक्सर कई प्रकार का खुलासा करते रहते हैं. इसमें परिवारवाद से पद पाना भी शामिल है. इसलिए ट्वीट करते हुए नीरज ने तेजस्वी पर अनुकम्पा से पद पाने का कटाक्ष किया. और सोना का मुकुट पहनने पर निशाना साधा. 

तेजस्वी के मोकमा पहुँचने पर उनके स्वागत में फूल-माला के साथ ही सोना का मुकुट पहनाया गया था. इस दौरान तेजस्वी ने कहा कि यह विशुद्ध आध्यात्मिक मंच है इसलिए कोई राजनीतिक भाषण नहीं दूंगा.  हिदू, इस्लाम, सिख व ईसाई कोई भी धर्म हो, गरीबों व बेसहारा इंसान की मदद करने का संदेश देता है. धर्म के नाम पर समाज में हिसा व नफरत फैलाना किसी भी मायने में जायज नहीं है. हम नया बिहार बनाने के लिए सतत संघर्ष कर रहे हैं, ताकि प्रदेश में व्याप्त बेरोजगारी व महंगाई से लोगों को मुक्ति दिला सकें. धर्म के नाम पर समाज में हिंसा व नफरत फैलाना जायज नहीं है.


Find Us on Facebook

Trending News