उमेश कुशवाहा के खिलाफ एक भी केस लंबित नहीं, तेजस्वी ने CM नीतीश से अपने अध्यक्ष का क्रिमिनल रिकॉर्ड देखने को कहा

उमेश कुशवाहा के खिलाफ एक भी केस लंबित नहीं, तेजस्वी ने CM नीतीश से अपने अध्यक्ष का क्रिमिनल रिकॉर्ड देखने को कहा

पटनाः बड़ी खबर जेडीयू खेमे से है जहां नाटकीय घटनाक्रम के तहत पूर्व विधायक उमेश कुशवाहा को जेडीयू का नया प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया है। पटना के प्रदेश कार्यलाय में आयोजित पार्टी की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में इस पर मुहर लगी है।पहले रामसेवक सिंह को प्रदेश अध्यक्ष बनाये जाने की खबर थी। उमेश कुशवाहा को प्रदेश अध्यक्ष बनाये जाने की खबर पर तेजस्वी यादव ने बड़ा हमला बोला। जेडीयू नेतृत्व ने जिस नेता को अध्यक्ष की कुर्सी दी है उन पर अब कोई केस लंबित नहीं है।बता दें पूर्व विधायक उमेश कुशवाहा पर विधायक रहने के दौरान एक गंभीर मामले में नाम आया था।

उमेश कुशवाहा पर एक भी केस नहीं

महनार के पूर्व विधायक उमेश कुशवाहा ने 2020 विधानसभा चुनाव में नामांकन के दौरान जो हलफनामा दिया है उसमें एक भी केस लंबित होने का जिक्र नहीं है। उन्होंने चुनाव आयोग को दी गई जानकारी में बताया है कि उनके ऊपर कोई केस किसी न्यायलय में पेंडिंग नहीं है। सभी कॉलम में शून्य दर्शाया गया है।


कुंडली देखकर अध्यक्ष बनाते हैं नीतीश कुमार

तेजस्वी यादव ने मीडिया से बातचीत में कहा कि नीतीश कुमार कुंडली देखकर अध्यक्ष बनाते हैं. पहले अशोक चौधरी को कुंडली देखकर कार्यकारी अध्यक्ष बनाया था अब उमेश कुशवाहा को अध्यक्ष बनाए हैं.तेजस्वी यादव ने आगे कहा कि नीतीश कुमार ने जिनको नया अध्यक्ष बनाया है उनका क्रिमिनल रिकार्ड बी तो देखे लें।

पहले रामसेवक सिंह को अध्यक्ष बनाये जाने की थी चर्चा

बता दें कि इसके पहले पूर्व मंत्री रामसेवक सिंह को अध्यक्ष बनाये जाने की बात सामने आई थी। रामसेवक सिंह को बधाई भी मिलने लगा था। लेकिन आज ऐन वक्त पर उनका पत्ता साफ हो गया और आनन-फानन में उमेश कुशवाहा को बुलाया गया और उन्हें अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी दी गई है। जेडीयू प्रदेश कार्यकारिणी में इस पर मुहर लग गई है।जानकारी के अनुसार पार्टी की मीटिंग में खुद नीतीश कुमार ने उमेश कुशवाहा को प्रदेश अध्यक्ष के लिए नाम प्रस्तावित किया। इसके बाद अन्य नेताओं ने इसका समर्थन कर दिया। इसी के साथ उमेश कुशवाहा जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष बन गए। उमेश कुशवाहा महनार से जेडीयू से विधायक थे लेकिन इस बार इनकी हार हो गई है। 

बता दें,अब तक जेडीयू प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाल रहे राज्यसभा सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह स्वास्थ्य कारणों से पद छोड़ने की इच्छा जताई थी।जिसे स्वीकार कर लिया गया और नए अध्यक्ष के तौर पर जेडीयू ने कोईरी समाज से आने वाले उमेश कुशवाहा को प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी दे दी। 


Find Us on Facebook

Trending News