मंत्री रामसूरत राय के बहाने CM नीतीश की 'सूरत' बिगाड़ने में जुटे तेजस्वी, विस की कार्यवाही शुरू होते ही फिर से उठाया मामला

मंत्री रामसूरत राय के बहाने CM नीतीश की 'सूरत' बिगाड़ने में जुटे तेजस्वी, विस की कार्यवाही शुरू होते ही फिर से उठाया मामला

पटनाः बिहार विधान सभा की कार्यवाही शुरू होते ही फिर से मंत्री रामसूरत राय का मामला उठा। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने प्रश्नकाल शुरू होते ही मंत्री रामसूरत राय का मुद्दा उठाया और सरकार से जवाब मांगा। तेजस्वी ने दोनों हाथ में मंत्री की तस्वीर दिखाते हुए कहा कि जिस स्कूल में शराब की बरामदगी हुई उससे मंत्री सीधे जुड़े हुए हैं। स्कूल उन्ही का है और शराब मामले में वे उनके भाई सीधे जुड़े हैं. 

मंत्री गलत बोल रहे-तेजस्वी

उन्होंने कहा कि मंत्री जो बातें कह रहे वो पूरी तरह से असत्य है। इस पर आसन संज्ञान ले और सदन में सरकार से जवाब दिलाये। विस अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि इस पर विचार होगा। आप प्रश्नकाल सुचारू रूप से चलने दीजिए। इसके बाद तेजस्वी अपनी सीट पर बैठ गए और फिर फिर प्रश्नकाल शुरू हुआ।

कोरोना में फर्जीवाड़ा का उठा इश्यू

प्रश्नकाल में राजद के ललित यादव ने कोरोना जांच में फर्जीवाड़ा का मामला उठाया।इसके बाद तेजस्वी यादव ने सरकार को घेरा और कहा कि इसमें भारी गड़बड़ी हुई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा भी था कि इस पर कमिटि गठित करने का ऐलान किया था लेकिन पोल खुलने के डर से उन्होंने ऐसा नहीं किया। इसके बाद स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि जमुई को छोड़कर कहीं गड़बड़ी नहीं हुई। जमुई में कोरोना जांच में गड़बड़ी मिलने पर एक्शन भी लिया गया। 

Find Us on Facebook

Trending News