तेजप्रताप यादव ने शुरू की दलित पॉलिटिक्स, बस्ती में खिचड़ी खाकर कहा-मैं हूं ना...

तेजप्रताप यादव ने शुरू की दलित पॉलिटिक्स, बस्ती में खिचड़ी खाकर कहा-मैं हूं ना...

पटना : RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े लाल तेज प्रताप यादव चुनावी साल को देखते हुए जमीनी स्तर पर काम करने में जुटे हैं.अपने अनोखे अंदाज के लिए जाने जाने वाले तेजप्रताप यादव एक बार फिर से बांसुरी बजाते एक दलित टोले में दिखे गए.

तेज प्रताप यादव के इस कदम को आगामी विधानसभा चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है. माना जा रहा है कि लालू यादव के परंपरागत मुस्लिम-यादव समीकरण से हटकर अब दलितों व पिछड़ों को भी साथ लेकर चलने की पार्टी की नीति के तहत यह तेज प्रताप की अपने अंदाज में राजनीतिक पहल है.

दलित बस्ती में खाई खिचड़ी
रविदास जयंती के मौके पर तेज प्रताप यादव पटना के मसौढ़ी के एक दलित बस्‍ती में जा पहुंचे.वहां बरनी गांव में आयोजित कार्यक्रम में उन्‍होंने जनसभा को संबोधित किया. तेज प्रताप ने संत रविदास को श्रद्धांजलि दी और बांसुरी बजाई. इस दौरान उन्हें भूख लग गई. तब उन्‍होंने एक गरीब महिला से पूछा कि क्‍या उन्‍होंने खाना बनाया है? इसके बाद महिला ने खिचड़ी बनाकर उन्‍हें खिलाया.

मैं हूं ना...
तेजप्रताप यादव ने इस दौरान लोगों से कई सवाल किए. जैसे राशन कार्ड बना है या नहीं, भीड़ में से किसी ने एक मकान की ओर इशारा करते हुए कहा कि इसे लालू यादव ने बनवाया था. इसपर तेज प्रताप ने कहा कि उन सभी लोगों के मकान लालू यादव ने ही बनवाए थे. तेज प्रताप ने कहा कि लोग इसका ध्‍यान रखें, आगे तो वे हैं ही. 

Find Us on Facebook

Trending News