अलीगढ़ मुस्लिम युविर्सिटी के छात्र की गर्दन काटे जाने वाले बयान पर राजनीतिक दलों जताया विरोध, तेजस्वी ने कहा- यह बीजेपी का कंटेट

अलीगढ़ मुस्लिम युविर्सिटी के छात्र की गर्दन काटे जाने वाले बयान पर राजनीतिक दलों जताया विरोध, तेजस्वी ने कहा- यह बीजेपी का कंटेट

पटना. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के एक छात्र की ओर से धर्म के अपमान करने वाले बयान उसके गर्दन काटने का बयान जारी किया गया है। जारी बयान पर राजनीतिक दलों की पार्टियों के नेता ने इस पर राजनीति भी शुरू कर दी है। एक तरफ तेजस्वी यादव ने कहा कि इसे ज्यादा तूल देने की जरूरत नहीं है तो वहीं दूसरी ओर उपेंद्र कुशवाहा और पप्पू यादव ने भी धर्म के बयान देने वाले को गलत बताया है।  

बीजेपी के पास कोई मुद्दा नहीं 

तेजस्वी यादव ने कहा कि बीजेपी इसे मुद्दा बनाने की कोशिश कर रही है। अपनी हार को देखते हुए इसे मुद्दा बनाने में लगे हैं, क्योंकि बीजेपी विकास के मुद्दे पर बात नहीं करना चाहती है। चेहरा कोई भी हो सकता है, लेकिन कंटेट और स्क्रीप्ट बीजेपी की ही है। कुछ पार्टियों ऐसी है जो बीजेपी के एजेंडे पर काम कर रही है। 

कानून हाथ में कोई न लें: उपेंद्र कुशवाहा

रालोसपा सुप्रीमों उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि कानून को हाथ में लेने की जरूरत नहीं है। लेकिन किसी को धर्म पर बोलने का अधिकार नहीं है। दोनों बात गलत है। इस तरह के बयान से समाज में गलत मैसेज जाता है। 

चुनाव आयोग गंभीरता से ले: पप्पू यादव

पूर्व सांसद पप्पू यादव ने भी बयान को गलत बताया है, लेकिन बिहार में क्या करेंगे, सिर्फ गर्दन ही काटेंगे। ये सब कहना बिल्कुल गलत है। चुनाव आयोग को गंभीरता से लेना चाहिए। राजनीति को सत्ता पक्षा और विपक्ष ने व्यापर बना दिया है। 


Find Us on Facebook

Trending News