लूटकांड में पिछले एक माह से फरार चल रहे आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे, कई वारदातों को दे चुका है अंजाम

लूटकांड में पिछले एक माह से फरार चल रहे आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे, कई वारदातों को दे चुका है अंजाम

सुपौल. अपराधी को जिले के त्रिवेणीगंज पुलिस ने मधेपुरा जिला के (पड़रिया) ओपी क्षेत्र के गांव से गिरफ्तार कर लिया है. इसको लेकर त्रिवेणीगंज पुलिस ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर जानकारी दी है. वहीं लूटकांड में शामिल अन्य शातिरअभियुक्तों को पुलिस ने गिरफ्तार कर पुर्व में जेल भेज दिया था. जिसको लेकर त्रिवेणीगंज पुलिस को एक बहुत बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. जहां पुलिस ने अंतर जिला गिरोह के तीन शातिर अपराधियों को अपाची बाइक के साथ धर दबोच कर पुर्व में जेल भेजा जा चुका है.

वहीं इस गिरोह के एक शातिर अपराधी सोनू कुमार पिता राजकुमार रमण उर्फ फुल बहादुर गांव पड़रिया थाना मधेपुरा भर्राही ओपी निवासी फरार थे. पुलिस का कहना है कि सीसीटीवी कैमरा में केद और वैज्ञानिक अनुसंधान और कपड़े एवं गिरफ्तार अपराधियों से पूछताछ के बाद बीते 14 अगस्त को हुई. थाना क्षेत्र अन्तर्गत मुख्य बाज़ार के जाने माने व्यवसायी कृष्ण अग्रवाल के दुकान में दिनदहाड़े तीन अपराधियों ने घुसकर हथियार के बल पर एक लाख रूपये लूट लिये.

इस दौरान व्यवसायी कृष्णा अग्रवाल पर दो गोली भी चला दी. हालांकि गोली किसी को नहीं लगी. मामले को लेकर पुलिस  खुलासा में जुटी हुई थी. इसके बाद पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार के नेतृत्व में टीम गठित कर थाना प्रभारी संदीप कुमार सिंह एवं त्रिवेणीगंज पुलिस के सहयोग से गुप्त सूचना के आधार पर थाना क्षेत्र के डफरखा निवासी आनंद प्रकाश उर्फ भानु यादव साथ ही उजला अपाची बाइक बीआर 50एम 1174 के साथ अन्य साथी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. इस घटना में शामिल मधेपुरा जिले के भर्राही ओपी निवासी सोनू कुमार पिता राजकुमार रमण उर्फ फुल बहादुर फरार थे. पुलिस ने गुप्त सुचना के आधार पर पर मधैपुरा जिले के भर्राही ओपी क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया है.

इसके अलावे जिले के पिपरा थाना क्षेत्र में बीते 19 अगस्त गुरुवार को शाम में दो बाइक पर चार बेखौफ अपराधियों ने घर से बाहर बुलाकर व्यवसायी को गोली मार दी. घटना में श्याम नगर निवासी किराना व्यवसायी विनोद चौधरी को गोलियों से छलनी कर दिया और मौके से फरार हो गए. जबकि घटना में विनोद चौधरी की मौके पर मोत हो गई. हालांकि इस घटना में पुलिस को बहुत साक्ष्य मिला. बताया जाता है कि अपराधियों ने भागने के क्रम में एक हीरो ग्लैमर मोटरसाइकिल बीआर 43क्यू 3844 एवं मोबाईल भी अपराधियों की छुट गई थी.

इस घटना को लेकर पुलिस अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस कड़ी नजर बनाए हुए थे. मामले पुलिस ने पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार के नेतृत्व में एक टीम गठित किया गया कांड अनुसंधान के आधार पर इस कांड में घटना स्थल पर एक मिले मोटरसाइकिल के विशलेषण एवं वैज्ञानिक अनुसंधान के आधार पर इस कांड में संलिप्त कुल चार अपराधी शामिल थे, जिसमें तीन अपराधी  न्यायिक हिरासत में है. जबकि सोनु कुमार फरार थे.

बीते 9 अगस्त को पिपरा थाना क्षेत्र अंतर्गत अस्पताल के पास इलेक्ट्रॉनिक्स दुकानदार जो मोटरसाइकिल से रात्रि में दुकान बंद कर लौट रहे थे, जिसे चार अपराधियों के द्वारा पिपरा अस्पताल के पास दुकानदार के मोटरसाइकिल को आगे से रोक कर तथा धक्का मारकर गिरा दिया. उसके मोटरसाइकिल का डिक्की  को तोड़कर उसमें रखे रुपये से भरा बैग को हथियार का भय दिखाकर रुपये वाला बैग एवं मोबाइल लूट लिया. घटना में पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में टीम गठित कर कांड अनुसंधान के क्रम में यही चारो शातिर  अपराधी शामिल थे.

 इस घटना में एक अन्य आरोपी सोनू कुमार फ़रार थे पुलिस सोनु कुमार  को पकड़ने के लिए कड़ी नजर बनाए हुए थे, पुलिस ने इन्हें भी गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही धटना के क्रम में  पहने हुए एक काला जिन्स पैन्ट और सेमसंग कंपनी का काला रंग की मोबाइल फोन सेट बरामद किया है. पकड़े सोनू कुमार को न्याय हिरासत में भेजने की तैयारी की जा रही है.

Find Us on Facebook

Trending News