तेजप्रताप का अजब-गजब रंग, कभी जलेबी छानते तो कभी माला जपते नजर आते हैं, पतंग उड़ाने के दिन आज घोड़ा दौड़ाने लगे...

तेजप्रताप का अजब-गजब रंग, कभी जलेबी छानते तो कभी माला जपते नजर आते हैं, पतंग उड़ाने के दिन आज घोड़ा दौड़ाने लगे...

PATNA: राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बड़े लाल तेज प्रताप यादव हमेशा चर्चे में रहते हैं. कभी जलेबी छानते नजर आते हैं तो कभी माला जपते। कभी साईकिल चलाने लगते हैं तो कभी भोलेनाथ के रूप में नजर आते हैं. तेजप्रताप यादव पीली धोती पहनकर राधे-राधे जपते हुए भी दिखाई दे चुके हैं.मतलब वे कभी भी आपको किसी रूप में दिख जायेंगे। अब मकर संक्रांति के दिन वे घोड़े पर सवार दिख रहे हैं.

वो कभी भी अजब-गजब रूप में आ सकते हैं नजर

लोगों का कहना है कि लालू का यह लाल राजनीति के अलावा सबकुछ कर सकते हैं. आज मकर संक्रांति है लिहाजा तेजप्रताप यादव ने अपने सरकारी आवास पर दही-चूड़ा का भोज आयोजित किया था। तेजप्रताप ने लोगों को आमंत्रित किया और खूब मनोरंजन किया। उन्होंने अपने आवास पर करतब दिखाने वालों को भी बुला लिया था।इससे जब मन नहीं भरा तो वे खुद करतब दिखाने लगे। सरकारी आवास कैंपस के पिछले भाग में गए और घोड़े की सवारी करने की ठानी। बस क्या था घोड़ा को लाया गया और तेजप्रताप घोड़े पर सवार हो गए और कैंपस में दौड़ाने लगे। 

पतंगबाजी की बजाए घोड़ा दौड़ाने लगे तेजप्रताप

मकर संक्रांति के दिन जब पतंगबाजी की जाती है तो लालू के बड़े लाल तेजप्रताप यादव घोड़े की सवारी करने लगे। हालांकि वे कैंपस में ही घोड़े की सवारी की और बाहर नहीं निकले।इस दौरान वे अपने आवास पर आये लोगों का खूब मनोरंजन किया. तेज प्रताप यादव खुद को श्रीकृष्ण बता चुके हैं, जबकि वह अपने छोटे भाई तेजस्वी यादव को अर्जुन. बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान वे कई रूपों में नजर आ चुके हैं. समस्तीपुर में वे एक जगह जलेबी छानने बैठ गए और जलेबी बनाया। 


Find Us on Facebook

Trending News