जिंदगी बचाने की जंग : नहीं मिली कोई सवारी, राजस्थान से बिहार के लिए पैदल ही चल पड़े है 14 मजदूर

जिंदगी बचाने की जंग : नहीं मिली कोई सवारी, राजस्थान से बिहार के लिए पैदल ही चल पड़े है 14 मजदूर

News4nation desk : कोरोना वायरस के खतरे के चलते पूरे देश को 14 अप्रैल तकलॉकडाउनकर दिया गया है। ट्रेन, बस और हवाई सारी सेवाएं बंद कर दी गई है। ऐसे में जो जहां है वहीं फंसा हुआ है। इसी बीच एक ऐसी खबर सामने आई है जो आपको झकझोर कर रख देगी। 

सेवा बंद होने के बाद राजस्थान से बिहार के 14 मजदूर पैदल ही निकल पड़े हैं। रोजी-रोजगार बंद होने के बाद अपने घर जा रहे ये मजदूर तीन दिन पैदल चलकर मंगलवार को जयपुर से आगरा तक पहुंचे हैं। अभी भी इन्हें लगभग 1000 किलोमीटर का रास्ता तय करना है। भूख-प्यास से इन सभी की हालत खराब है।
 बिहार के सिफॉल निवासी एक मजदूर ने बताया कि एक महीने पहले अपने 14 साथियों के साथ जयपुर के कोल्ड स्टोरेज में काम करने के लिए गया था। अभी 25 दिन ही हो पाए थे कि सरकार के आदेश पर कोल्ड स्टोरेज को बंद कर दिया गया। इसके बाद कोल्ड स्टोरेज मालिक ने दो हजार रुपये देकर उन्हें घर भेज दिया। मगर जयपुर में कर्फ्यू लगा हुआ है। इस कारण कोई वाहन नहीं चल रहा।
 
 तीन दिन में जयपुर से पहुंचे आगरा 

21 मार्च को ये सभी जयपुर से निकले थे और मंगलवार को आगरा पहुंच पाए हैं। रास्ते में खाने-पीने का सामान न मिल पाने की वजह से भूखे पेट चल रहे हैं। रास्ते में जो मिल जाता है, उसी से पेट भर लेते हैं। उन्हें करीब 1000 किलोमीटर दूर अपने जिले में जाना है। रास्ते में पुलिस रोकती है तो वे पैदल अपने घर जाने के लिए कह देते हैं।

Find Us on Facebook

Trending News