कब्रिस्तान से बाहर निकल आया नौ दिन पहले दफन किए गए बच्चे का शव, बगल में दफनाई गई लाश भी गायब, गांव में मच गया हड़कंप

कब्रिस्तान से बाहर निकल आया नौ दिन पहले दफन किए गए बच्चे का शव, बगल में दफनाई गई लाश भी गायब, गांव में मच गया हड़कंप

SUPOUL :  जिले के त्रिवेणीगंज में बघला नदी किनारे बने कब्रिस्तान में उस वक्त हड़कंप मच गया, जब यहां  गुरुवार को एक मृत बच्चे का शव कब्र से बाहर देखा गया।  शव के हाथ और पैर कटे हुए थे।  वहीं, उसी बच्चे के कब्र के ठीक बगल में आठ दिन पहले दफनाए गए एक बच्चे शव कब्र में नहीं है, जिससे इलाके में सनसनी फैल गई है। वहीं घटना को लेकर कब्र देखने बाद प्रथमदृष्टि से लगता है  जानवरों की सुराग है, फिलहाल कब्रिस्तान की देख रेख के लिए चौकीदार प्रतिनियुक्ति किया है।

क्या है माजरा

कब्रिस्तान में बीते बारह दिनों पहले करीब नौ महिना की बच्चा की शव को दफना गया ।हालांकि गांव से कब्रिस्तान दूरी है। इस दौरान कल किसी चरवाहे ने गांव वालों को जानकारी दी कि एक बच्चे का हाथ-पैर कटा हुआ शव कब्र के बाहर रखा हुआ है. सूचना पाकर सभी वहां पहुंचे, जिसके बाद गांव वालों ने मौलवी से धार्मिक जानकारी लेकर फिर से उस बच्चे को दफना दिया. 

बगल में दफन बच्चे का शव था गया

बगल के कब्र में आठ दिन पहले मो.ऐनुल के बच्चे को दफनाया गया था, जिसका शव कब्र में नहीं है. दरअसल, कब्र के पास एक छोटा सा छेद बना हुआ था. उसे देखने के बाद लोगों ने जब उस कब्र को खोदा तो वहां बच्चे की लाश नहीं थी. आस पास खोजने पर भी बच्चे की लाश नहीं मिली. ये बात गांव में आग की तरह फैल गई. गांव वालों की भीड़ कब्रिस्तान में इकट्ठा हो गई.

गांव मे कब्रिस्तान में से बच्चे की शव गाइब होनी की खबर आग तरह फैल गई, जब तक में कई पत्रकारों ने शव की चौरी होनी की खबर दे दना-दन चला दिया, जब हकीकत जानने के लिए वहां अनुमंडल प्रशासन एस जेड हसन पहुंचे। फिर ग्रामीणों से गहरी पूछताछ की। अधिकारी ने कब्र पर पहुंच कर सुराग देखा।  देखने बाद पता चला कि कब्र को किसी जानवरों ने खोदा है, वहीं ग्रामीणों से पता चला कि शव बारह दिनों पहले करीब नौ महिना की बच्चा का शव दफनाया गया है।

सिर्फ दो फीट गहराई में दफनाया शव

मामले में बताया गया कि शव बहुत कम नीचे जमीन मे दफनाया है। गांव से दूर होने के कारण  कब्र की देखभाल नहीं हो रही थी। कब्र भी सुनसान जगह और नदी के किनारे है, इसी को इसलिए जानवरों ने हमला कर दिया। मामले में शव बाहर आने को लेकर मुस्लिम धर्म गुरु के माने कब्रिस्तान कम से चार फीट नीचे गड्ढा होना चाहिए। उस कब्र पर मसुर की दाल चिरकाव करना पड़ता है, ताकि कोई भी जानवरों कब्र खोदने में असफल हो लेकिन इस बच्चे की शव को दो फीट नीचे ही दफनाया गया।

Find Us on Facebook

Trending News