रांग नंबर वाला लड़का बन गया जिंदगी का मि. राइट, परिवार के विरोध के बाद पुलिसवालों ने प्रेमी जोड़ों की करवाई शादी

रांग नंबर वाला लड़का बन गया जिंदगी का मि. राइट, परिवार के विरोध के बाद पुलिसवालों ने प्रेमी जोड़ों की करवाई शादी

SUPOUL :- रांग नम्बर लगे फोन से दो साल तक चलता रहा प्यार। मामला थाने पहुंचा, फिर हुई शादी. ताजा मामला जिले के जदिया थाना क्षेत्र की है। जबकि बीते लॉकडाउन में फोन के जरिए इश्क परवान चढ़ गया। वहीं प्रेमिका युवती ने बताया की रोंग नम्बर से फोन आया था। फिर धीरे धीरे फोन पर बात करते करते दोस्ती हो गई। न जाने कब दोस्ती प्यार में बदल गई पता हीं नहीं चला। लेकिन परिवार की बंदिशें बाधा बन गई जिसके बाद पुलिस ने  रांग नंबर वाले लड़के को युवती के मिस्टर राइट बनाने में मदद की और थाने में ही शादी रचाकर दोनों को बाइक पर विदा कर दिया।

बताया जाता है कि महादलित युवती पूर्णिया जिला के मुरलीगंज धरहरा की रहनेवाली है। वहीं प्रेमी युवक रूपेश मंडल, सुपौल जिला के जदिया थाना क्षेत्र के परसागढी दक्षिण हरिनहा का रहनेवाला है। प्रेमिका युवती ने बताया की दो सालों से प्रेम प्रसंग चल रहा है।

जब शादी करने की बात आई तो युवक शादी करने से इनकार कर रहा था। फीर जदिया थाना का शरण लेना पड़ा  जदिया थाना प्रभारी  राजेश कुमार चौधरी, ने दोनों पक्षों के घरवालों को थाने में बुलाया। फीर क्या हुआ दोनो पक्षों के घरवालों की बात सुनी उसके बाद  राजी खुशी से जदिया थाना स्थित भोलेनाथ मंदिर में शादी करा दी। थाना प्रभारी राजेश कुमार चौधरी ने बताया की दोनों युवकयुवती के आधार कार्ड जांच किए गए दोनों बालिक हैं। दोनों अपने जिंदगी जीने के लिए स्वतंत्र है। दोनों का शादी करवा कर दोनों पक्षों से थाना में बॉन्ड भरवा भेज दिया गया है। वहीं दूल्हा,दुल्हन को बाइक पर बैठाकर घर भेज दिया। 

थानों में बढ़ रहे हैं शादी के मामले

बिहार में इन दिनों पुलिस अपराधियों को कम, बल्कि प्रेमी जोड़ों को मिलाने का काम ज्यादा कर रही है। लगभग हर दिन प्रदेश के किसी न किसी थाने से ऐसे मामले जरुर सामने आ रहे है, जब पुलिस किसी प्रेमी जोड़े की शादी थाने में करवा रही है। स्थिति यह हो गई है कि अब मंदिर में स्थायी पुजारी की नियुक्ति हो जाए, तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी

Find Us on Facebook

Trending News