कारकेट में 'मुख्यमंत्री' की ही गाड़ी नहीं दिखीः CM नीतीश का अचानक बदला गया 'रूट' तो हक्का-बक्का रह गये ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी, जानें...

कारकेट में 'मुख्यमंत्री' की ही गाड़ी नहीं दिखीः CM नीतीश का अचानक बदला गया 'रूट' तो हक्का-बक्का रह गये ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी, जानें...

PATNA: कांग्रेस के कद्दावर नेता और बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष सदानंद सिंह का आज निधन हो गया । पटना के प्राइवेट हॉस्पिटल में उन्होंने अंतिम सांसें ली। वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे और लीवर सिरोसिस की बीमारी से परेशान थे। दिल्ली के प्रसिद्ध डॉक्टर एसके सरीन से लीवर का इलाज कराया था। उसके बाद पटना लौटे, लेकिन तकलीफ बढ़ी तो फिर अस्पताल में एडमिट होना पड़ा। आज सुबह करीब 9 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। सदानंद सिंह के निधन पर पूरे बिहार में शोक की लहर दौड़ पड़ी। 

विधानमंडल परिसर में सीएम नीतीश ने दी श्रद्धांजलि

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष का पार्थिव शरीर विस परिसर में लाया गया। जहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, विस अध्यक्ष डिप्टी सीएम,तेजस्वी यादव समेत कई मंत्रियों ने श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि सदानंद बाबू के निधन से एक युग का अंत हो गया। वे 9 दफे विधायक रहे थे।मुख्यमंत्री ने कहा कि सदानंद बाबू का जाना उनके लिए निजी क्षति है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जब सदानंद सिंह के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित कर वापस जा रहे थे इस दौरान बड़ी लापरवाही देखने को मिली। 

तब पुलिस हो गई परेशान 

सीएम नीतीश के लौटते समय रास्ते की सुरक्षा में लगे पुलिस वाले भी लापरवाही देख भौचक्के रह गये। ड्यूटी पर तैनात पुलिसवाले तब परेशान हो गये जब मुख्यमंत्री के लिए तय रूट पर गाड़ी नहीं आई। सीएम नीतीश के कारटेक के आगे सचिवालय व ट्रैफिक डीएसपी की गाड़ी व पीछे एंबुलेंस तो गुजरी लेकिन मुख्यमंत्री की ही गाड़ी नहीं दिखी। यह देख पुलिसवाले परेशान हो गये।आखिर आगे और पीछे की गाड़ियां निकली लेकिन मुख्यमंत्री की गाड़ी तो आई ही नहीं। तभी मुख्यमंत्री का काफिला विस परिसर के इंट्री गेट से निकलकर सचिवालय के मुख्य द्वार के पास दिखी। गाड़ी देख विस के 'आउट' गेट के बाहर और सचिवालय के ग्रामीण विकास विभाग-राजस्व विभाग साईड में सुरक्षा में लगे पुलिस अधिकारी और कर्मियों की जान में जान आई। ड्यूटी पर तैनात पुलिस अधिकारी कहते सुने गये कि यह गजब हो गया। सीएम कारकेट में शामिल दो डीएसपी, एंबुलेंस व अन्य गाड़ियां इधर से निकली लेकिन मुख्यमंत्री की गाड़ी दूसरे गेट से निकल गई। ड्यूटी पर तैनात पुलिसवाले कहने लगे 'को-ऑडिनेशन' की कमी की वजह से ऐसा हुआ।

Find Us on Facebook

Trending News