मंत्री के जवाब पर सभापति को विश्वास नहीं, विप सभापति ने 'सुशासन' की खोली पोल, कहा- जब तक वो DM रहेगा तब नहीं होगा काम

मंत्री के जवाब पर सभापति को विश्वास नहीं, विप सभापति ने 'सुशासन' की खोली पोल, कहा- जब तक वो DM रहेगा तब नहीं होगा काम

PATNA:  बिहार में अफसरशाही किस कदर हावी है इसकी बानगी आज बिहार विधान परिषद में देखने को मिली। विप के सभापति ही अफसरों से खासे परेशान दिखे। सभापति अवधेश नारायण सिंह को सीएम नीतीश के मंत्री के आश्वासन पर भी भरोसा नहीं रहा। सभापति ने आज सदन में कह दिया कि आपको आश्वासन पर हमें विश्वास नहीं। अवधेश नारायण सिंह ने यहां तक कह दिया कि जब तक वो डीएम वहां रहेगा आपके आश्वासन के बाद भी काम नहीं होगा। 

दरअसल, आज बिहार विधान परिषद में ध्यानाकर्षण प्रस्ताव में भोजपुर जिले के पीरो प्रखंड के कोथुआ गांव में बनने वाले आईटीआई भवन से जुड़ा था। सरकार से आईटीआई भवन बनाने का प्रस्ताव 2007 में ही पास हुआ था। तब से आज तक भवन नहीं बना। बीजेपी एमएळसी संजय पासवान ने इस मामले को उठाया। भवन बनने की बात तो दूर जमीन का अधिग्रहण तक नहीं हुआ। श्रम संसाधन मंत्री जीवेश कुमार ने जवाब दिया और कहा कि तीन महीनों के भीतर जमीन अदिग्रहण का काम पूरा हो जायेगा। इस पर सभापति अवधेश नारायण सिंह ने कहा कि आपके जवाब पर सदस्य की बात तो दूर हमें ही विश्वास नहीं हो रहा। 14 सालों में एक इंच काम नहीं बढ़ा और तीन महीने में जमीन का अधिग्रहण हो जायेगा? कम से कम उस डीएम के रहते तो यह संभव नहीं ही है। 

सभापति ने मंत्री जीवेश कुमार को कहा कि अगर तीन महीने के भीतर काम में प्रगति नहीं हुई तो आप करेंगे ? इस पर श्रम संसाधन मंत्रई ने सदन में आश्वस्त किया कि तीन महीने में अगर जमीन का अधिग्रहण नहीं हुआ तो इसमें बाधक बनने वाले अफसरों पर कार्रवाई करेंगे। इसके बाद भी सभापति को पूर्ण विश्वास नहीं हुआ औरआसन से नियमन दिया कि यह ध्यानाकर्षण आगामी बजट सत्र में स्वतः आयेगा। बजट सत्र में भी इस पर चर्चा होगी।  

Find Us on Facebook

Trending News