मुखिया प्रत्याशी ने चुनाव में अनियमितता का लगाया आरोप, कहा चुनाव रद्द नहीं हुआ तो करेंगे आमरण अनशन

मुखिया प्रत्याशी ने चुनाव में अनियमितता का लगाया आरोप, कहा चुनाव रद्द नहीं हुआ तो करेंगे आमरण अनशन

BETTIAH : बगही - बसवरिया पंचायत में बीते 3 नवंबर का त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव कई कारणों से अनोखा हो गया है। इस पंचायत में मतदान के दिन कई कई गड़बड़ियां उजागर हो रही है। मुखिया प्रत्याशी रहे फैजाना शबनम के शौहर महम्मद सब्बीर उर्फ मुन्ना भाई ने कहा की पटना हाईकोर्ट में सेक्टर मजिस्ट्रेट, पेट्रोलिंग मजिस्ट्रेट सहित चुनाव परिक्रिया में कार्यरत सभी कर्मचारियों के विरुद्ध पी आई एल दायर किये है। इसके अलावे राज्य निर्वाचन आयोग, पंचायती राज मंत्री, तिरहुत प्रमंडल के आयुक्त, डीएम सहित कई अधिकारियों से चुनाव को रद्द कर नए सिरे से चुनाव कराने की मांग की है। महम्मद सब्बीर ने यह भी बताया कि बीते 3 नवंबर को पंचायत चुनाव हुआ था। बगही - बसवरिया पंचायत के वार्ड नं 6 मे कुल मतदाताओं की संख्या 486 है, जिसका बूथ संख्या 32 है। इस बूथ पर 486 में 486 पोल हुआ है। जबकि इस वार्ड और बूथ के मतदाताओं में 8 की मौत हो चुकी है, 34 मतदाता विदेश में रहकर नौकरी कर रहे हैं और 2 दर्जन से अधिक मतदाता देश के विभिन्न हिस्सों अलीगढ़, दिल्ली, मुंबई आदि में रह रहे हैं। जब ये 5 दर्जन मतदाता थे ही नहीं तो आखिरकार इस बूथ पर सौ फीसदी वोट कैसे हो गया। इसी तरह से इस पंचायत के कई बूथों पर भारी अनियमितता व घोर लापरवाही के साथ बगही - बसवरिया पंचायत में चुनाव हुआ है।

इधर महमद सब्बीर ने निर्वाचन आयोग पर आरोप लगाते हुए कहा है कि बगही  गाँव के ही नेयाज अहमद हैं। उनका यह पंचायत है और लौरिया प्रखंड के परसा में सरकारी स्कूल में शिक्षक हैं। उन्हें किस आधार पर बगही - बसवरिया पंचायत का पहले सेक्टर मजिस्ट्रेट बनाया गया था और चुनाव के दिन उन्हें इसी पंचायत का पेट्रोलिंग मजिस्ट्रेट बना दिया गया। वे अपने रिश्तेदार को चुनाव में मुखिया बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। उनका रिश्तेदार नासरीन प्रवीण के शौहर गोलू ने मुखिया का चुनाव जीतने के बाद सबसे पहले नेयाज अहमद को बधाई देने के साथ मिठाई दिया था। सबीर ने कहा कि नेयाज अहमद शुरू से कह रहा था कि नासरीन प्रवीण ही चुनाव जीतेगी। उसके खिलाफ निर्वाचन पदाधिकारी को आवेदन दिया गया था कि नेयाज को चुनाव से हटाया जाए, जहां निर्वाचन अधिकारी ने उसे सेक्टर मजिस्ट्रेट के पद से हटाने के बजाय प्रमोशन देते हुए पेट्रोलिंग मजिस्ट्रेट बनाकर रिश्तेदार को जिताने का कार्य किया है।

इधर महम्मद सबीर ने सैकड़ों लोगों के सामने कहा कि यदि चुनाव निरस्त नहीं हुआ और नए सिरे से पंचायत चुनाव नहीं हुआ तो हमसब आमरण अनशन शुरू करेंगे। जहां सैकड़ों लोगों ने एक सुर से कहा कि हमसब आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर साथ रहेंगे। वही इस संबंध में मुखिया पद पर द्वितीय स्थान पर रही मो• सब्बीर की पत्नी फैजाना शबनम ने बताया की मेरे पंचायत में चुनाव में घोर अनियमितता हुआ है। उन्होंने चुनाव को रद्द कर फिर से चुनाव कराने की मांग की। वही इस संबंध में लौरिया प्रखंड विकास पदाधिकारी सह पंचायत चुनाव के आरओ आदित्य दीक्षित ने बताया की मो•सब्बीर का आरोप पूरी तरह से बेबुनियाद है। वहां कुल 530 मतदाता है जिसमे 330 मतदान हुआ है। 

बेतिया से आशीष कुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News