जिस राज्य की 46 फीसदी जनता गरीबी रेखा के नीचे हो, 40 फीसदी बच्चे कुपोषण का शिकार हों वहां के मुख्यमंत्री 1.25 करोड़ की गाड़ी में घूमेंगे

जिस राज्य की 46 फीसदी जनता गरीबी रेखा के नीचे हो, 40 फीसदी बच्चे कुपोषण का शिकार हों वहां के मुख्यमंत्री 1.25 करोड़ की गाड़ी में घूमेंगे

रांची. झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन अब बीएमडब्ल्यू से नहीं बल्कि 1.25 करोड़ रुपए की ऑडी कार से चलेंगे। दरअसल पिछले दिनों कैबिनेट बैठक में सीएम ने राज्य के मंत्रियों के वाहनों की खरीद के लिए 4 करोड़ रुपए की राशि की स्वीकृती प्रदान की थी। बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन बीएमडब्ल्यू के बजाय ऑडी Q7 में चलेंगे। वहीं उनके काफिले में दो नए एंबुलेंस भी शामिल किए जाएंगे। इसके साथ ही राज्य के सभी मंत्रियों के काफिले में नई महिंद्रा बोलेरो एन-4 को शामिल किया जाएगा। सूबे के मुख्यमंत्री के मंहंगे गाड़ी के शौक पर विपक्ष में बैठी भारतीय जनता पार्टी हमलावर हो गई है। विपक्ष ने उनपर कई सवाल उठाए हैं। 

झारखंड के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के इस फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा कि वो कहते हैं ना शौक बड़ी चीज होती है, झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को भी गाड़ियों के प्रति ऐसा शौक जागा है। हर 6 महीने में नई-नई गाड़ियां उनके कारकेड में बदली जाती हैं, वह भी करोड़ों रुपए की कीमत वाली। कुछ दिन पहले ही मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के कारकेड में बीएमडब्ल्यू कार शामिल हुई थी। वहीं अब सवा करोड़ की लागत वाली ऑडी Q7 के लिए विभाग ने स्वीकृति भी दे दी है। 

गरीबों का बेटा, ऑडी में घुमेगा : बीजेपी प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा कि जिस राज्य की गरीब आदिवासी मूलवासी जनता को दो वक्त का भोजन भी नसीब नहीं होता हो। राज्य का मुख्यमंत्री जो स्वयं को गरीबों का बेटा कहता है, लेकिन उसे गरीब जनता की चिंता से ज्यादा अपने शौक की चिंता है। वह हर 6 महीने में गरीब जनता की गाढ़ी कमाई के पैसों से महंगी विदेशी कारों को खरीद रहा है। बीजेपी नेता ने कहा कि महंगी गाड़ियों को देखने का शौक रखने वालों को यहां वहां जाने की जगह मुख्यमंत्री सोरेन की कारकेड को देखना चाहिए। इसमें दुनिया की महंगी विदेशी गाड़ियां शामिल हैं। 

हेमंत सोरेन के काफिले में 25 गाड़ियां शामिल : फिलहाल मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के काफिले में 25 गाड़ियां शामिल होती हैं। इसमें बीएमडब्ल्यू जीएलएस -400डी 4 मैटिक, लैंड रोवर डिस्कवरी, ईसुजी- डी मैक्स, फॉर्च्यूनर कार शामिल हैं। बता दें कि लगभग 5 माह पूर्व भी 10 करोड़ की लागत से 18 नई गाड़ियां खरीदी गईं थीं। 

कांग्रेस बोली- पीएम 13 करोड़ की गाड़ी पर घुमते हैं, उनके काफिले में विदेशी गाड़ियों का अंबार. वहीं सत्तारूढ़ दल के गठबंधन में शामिल कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के लग्जरी कार के शौक का बचाव करते हुए कहा कि देश के पीएम मोदी 13 करोड की महंगी गाड़ियों पर चढ़ रहे हैं। उनके भी काफिले में विदेशी गाड़ियों की अंबार है। कांग्रेस प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री द्वारा किए जा रहे हैं जनहित के कार्यों से बौखलाई भाजपा के पास कोई मुद्दा नहीं है तो बेवजह मुख्यमंत्री पर सवाल खड़े कर रही है।


Find Us on Facebook

Trending News