सीएम नीतीश के सामने बच्चे ने खोली सरकारी स्कूल की पोल, कहा प्राइवेट स्कूल में नाम लिखा दीजिये, शिक्षक को पढ़ाने नहीं आता

सीएम नीतीश के सामने बच्चे ने खोली सरकारी स्कूल की पोल, कहा प्राइवेट स्कूल में नाम लिखा दीजिये, शिक्षक को पढ़ाने नहीं आता

NALANDA : फ़िल्म नायक के उस दृश्य को शायद ही आप भूले होगें। जिसमें रानी मुखर्जी ने मुख्यमंत्री के समक्ष गांव में बिजली नहीं आने की शिकायत की थी। उसी तरह आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह कल्याणबीघा में देखने को मिला। जहां छठी क्लास के एक छात्र मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से हाथ जोड़कर सरकारी स्कूल के जगह प्राइवेट स्कूल में नामांकन कराने की गुहार लगाने लगा। बच्चे की बात सुन मुख्यमंत्री ने तुरंत अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। 

दरअसल आज मुख्यमंत्री अपनी पत्नी की 16 वीं पुण्यतिथि के मौके पर कल्याणबिगहा पहुंचे हुए थे। जहां हरनौत प्रखण्ड के नीमाकौल के क्लास 6 के छात्र सोनू कुमार ने नीतीश कुमार जनसंवाद कार्यक्रम में लोगो की समस्याओं को सुन रहे थे। इस जनसंवाद में अपनी समस्या को लेकर वह पहुंचा था। बच्चे का आरोप है कि उसका पिता रणविजय यादव दही बेचने का काम करते है। उसकी कमाई के रुपए से शराब पी जाते हैं।  गरीब परिवार से होने के कारण मध्य विद्यालय नीमा कौल के सरकारी स्कूल में पढ़ता है। जहां शिक्षको को भी अच्छी गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने नहीं आता है। 

बच्चे ने कहा की अगर सरकार हमे मदद करे तो मैं भी पढ़ लिखकर आईएएस आईपीएस बनना चाहता हूं। सोनू कुमार छठी कक्षा में पढ़कर 5 वी कक्षा तक के 40 बच्चो को शिक्षा देकर अपनी पढ़ाई का खर्च निकालता है। वही इस छोटे से बच्चे के हिम्मत को देखकर अधिकारी से लेकर नेता तक दंग रह गए। सीएम के आदेश के बाद उसको सहयोग मिल पाता है कि नहीं यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा।




Find Us on Facebook

Trending News