सात सालों से बंद 'बिहटा' का ऑक्सीजन प्लांट फिर हुआ शुरु, प्रतिदिन 800-1000 जंबो सिलिंडर की रिफिलिंग

सात सालों से बंद 'बिहटा' का ऑक्सीजन प्लांट फिर हुआ शुरु, प्रतिदिन 800-1000 जंबो सिलिंडर की रिफिलिंग

PATNA: बिहटा में सात साल से बंद ऑक्सीजन प्लांट फिर से शुरू हो गया है। इस प्लांट के चालू हो जाने से प्रतिदिन 800-1000 जंबो सिलिंडर की रिफिलिंग होगी। बिहार के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन और स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने ऑनलाइन उद्घाटन किया। उद्योग मंत्री ने कहा कि बिहार में ऑक्सीजन उत्पादन और आपूर्ति की स्थिति अब पूरी तरह नियंत्रण में है। खुशी की बात है कि अब भी बिहार में ऑक्सीजन प्लांट्स खुलने का सिलसिला पूरी रफ्तार से जारी है। शाहनवाज हुसैन ने कहा कि आज बिहटा में एक और ऑक्सीजन प्लांट्स ने काम करना शुरु कर दिया है। 

उद्घटान के मौके पर मौजूद रहे बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, पूर्व मंत्री और सांसद रामकृपाल यादव और विधान पार्षद नीरज कुमार. बिहटा में शुरु हुए गंगोत्री ऑक्सीजन प्लांट की क्षमता 800-1000 जंबो सिलिंडर्स रिफिलिंग की है। आपको बता दें गंगोत्री ऑक्सीजन प्लांट 7 साल से बंद पड़ा था लेकिन कोरोना महामारी की आपात स्थिति में ऑक्सीजन उत्पादन और आपूर्ति के लिए किए गए कई उपायों में इसे भी जीवनदान मिला और बिहार के उद्योग मंत्रालय, स्वास्थ्य मंत्रालय के साझा प्रयासों से इसने जंबो ऑक्सीजन सिलिंडर्स की रिफिलिंग शुरु कर दी है।

बिहटा स्थित गंगोत्री ऑक्सीजन प्लांट के वचुर्अल उद्घाटन कार्यक्रम में बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने बेहद मजबूत कोरोना वारियर के तौर पर कोविड-19 महामारी के खिलाफ पूरी ताकत से लड़ाई लड़ी है । इसमें ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने में उद्योग विभाग भी दिनरात जुटा रहा। उद्योग विभाग के सतत प्रयास से पिछले एक-डेढ़ महीने में 11 ऑक्सीजन प्लांट्स की जगह अब 23 ऑक्सीजन प्लांट्स में ऑक्सीजन उत्पादन और रिफिलिंग का काम हो रहा है। शाहनवाज हुसैन ने कहा कि बिहटा स्थित गंगोत्री ऑक्सीजन प्लांट जो कि बंद पड़ी थी, उसका पुन:संचालन बिहार में पर्याप्त ऑक्सीजन उप्पादन और आपूर्ति सुनिश्चित करने की दिशा में बेहद सार्थक कदम है।

शाहनवाज हुसैन ने कहा बिहार में ऑक्सीजन की कमी बिल्कुल नहीं होने दी जाएगी, इसके लिए उनका  विभाग लगातार कोशिशें कर रहा है। बियाडा की तरफ से हाजीपुर में 1500 सिलिंडर्स की कैपेसिटी का एक ASU प्लांट जल्द शुरु होगा । इस प्लांट की खूबी ये होगी कि किसी भी राज्य से सस्ता ऑक्सीजन यहां भरा जा सकेगा। यहां मांत्र 40 रुपए में जंबो ऑक्सीजन सिलिंडर भरा जाएगा।

उद्घाटन कार्यक्रम में बोलते हुए बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाँडे ने भी गंगोत्री ऑक्सीजन प्लांट के दोबारा चालू होने पर खुशी जाहिर की और कहा कि हम सब के लिए ये बेहद संतोष की बात है कि बिहार में ऑक्सीजन की कमी से एक भी मरीज की मौत नहीं हुई। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने तारीफ करते हुए कहा कि उद्योग विभाग ने बेहद कम समय में ऑक्सीजन उत्पादन और आपूर्ति व्यवस्था सुदृढ़ की और अब भी इस दिशा में कई कदम उठाए जा रहे हैं। मंगल पांडे ने कहा कि 15 अप्रैल के आसपास जब कोरोना की दूसरी लहर में मरीजों की संख्या बढ़ने लगी तब बिहार में सिर्फ 11 ऑक्सीजन प्लांट्स थे जो अब बढ़कर 23 हो गए हैं। उस वक्त एयर सेपेरेशन यूनिट – एएसयू से मात्र 16 मेट्रिक टन ऑक्सीजन की उपलब्धता थी वही अब 46 मेट्रिक टन हो गई है। अन्य राज्यों से भी ऑक्सीजन की आपूर्ति 194 मेट्रिक टन से बढ़कर 214 मेट्रिक टन और अब 274 मेट्रिक टन हो गई है।

बिहटा स्थित गंगोत्री ऑक्सीजन प्लांट के उद्घाटन के मौके पर पूर्व मंत्री और सांसद रामकृपाल यादव और विधान पार्षद नीरज कुमार ने भी इस बात पर खुशी जाहिर की कि बिहार ऑक्सीजन उत्पादन और प्रोत्साहन नीति बनाने वाला देश का पहला राज्य है। इन्होंने कहा कि बिहार के 13 करोड़ लोगों की फिक्र में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार पूरी तरह तत्पर और मुस्तैद है। बिहार के उद्योग विभाग, स्वास्थ्य मंत्रालय और पूरे सरकारी तंत्र के एकजुट होकर साझा प्रयासों का ही नतीजा है कि आज बिहार में हालात काफी नियंत्रण में हैं, खासकर ऑक्सीजन की उपलब्धता जरुरत के हिसाब से मुक्कमल है।

Find Us on Facebook

Trending News