महागठबंधन सरकार की बजट सत्र की तारीख, एक महीने से ज्यादा लंबा होगा सत्र, होंगी इतनी बैठक

महागठबंधन सरकार की बजट सत्र की तारीख, एक महीने से ज्यादा लंबा होगा सत्र, होंगी इतनी बैठक

PATNA : बिहार में महागठबंधन सरकार के बजट सत्र की तारीखों का ऐलान हो गया है। मौजूदा सरकार का पहला बजट अगले महीने 27 फरवरी से लेकर 5 अप्रैल तक चलेगा।  इस दौरान 21 बैठक होने की संभावना है। विधानसभा सचिवालय ने सरकार के आला अधिकारियों से विमर्श के बाद ये तिथियां तय की है। इसके पहले 20 फरवरी से 27 मार्च और 24 फरवरी से 31 मार्च तक बजट सत्र चलाने पर भी गंभीर चर्चा हुई पर अंतिम रूप से 27 फरवरी से ही बजट सत्र चलाने पर सहमति बन पाई है।

बजट सत्र के पहले ही दिन राज्यपाल फागू चौहान दोनों सदनों विधानसभा और विधान परिषद के सदस्यों (243 एमएलए और 74 एमएलसी) के संयुक्त सत्र को संबोधित करेंगे। वो महागठबंधन सरकार की भावी योजनाओं और अब तक राज्य में किये गये विकास कार्यों के साथ चल रही योजनाओं की विस्तार से जानकारी देंगे। अगले दिन वर्ष 2023-24 वित्तीय वर्ष का बजट पेश किये जाने की संभावना है। उसके बाद अन्य विभागों के सिलसिलेवार बजट पेश किये जाएंगे।

सभी को अपनी बातों को रखने का मिलता है मौका
राज्य में एक ही बार सिर्फ ‘बजट सत्र’ लंबा चलता है जिसमें विपक्ष को भी सरकार को घेरने का पूरा मौका मिलता है। इसके बाद मॉनसून सत्र और शीतकालीन सत्र भी होता है पर दोनों अधिकतम 7-10 दिनों तक ही चलते हैं। राज्य में भाजपा के विपक्ष में आने के बाद ये पहला बजट सत्र है। ऐसे में भाजपा राज्य में विकास की गति, कानून व्यवस्था और कई ज्वलंत मसलों पर आए दिन हो रही बयानबाजी पर सरकार को घेरने का प्रयास करेगी। ऐसे में बजट सत्र हंगामेदार रहने की संभावना है।

पिछले वर्ष 9 अगस्त को राज्य में महागठबंधन सरकार अस्तित्व में आई थी। उसके बाद एक महीने तक चलने वाले पहले फूल-फ्लेज बजट सत्र की तिथियां तय हो गई हैं। हालांकि इन तिथियों पर अभी कैबिनेट की मुहर लगनी है।

Find Us on Facebook

Trending News