मर्डर के आरोपी DSP को सरकार ने किया सस्पेंड, सर्विस रिवाल्वर से चली गोली में दोस्त की गई थी जान

मर्डर के आरोपी DSP को सरकार ने किया सस्पेंड, सर्विस रिवाल्वर से चली गोली में दोस्त की गई थी जान

PATNA: मर्डर केस में जेल जाने वाले प्रशिक्षु डीएसपी को बिहार सरकार ने फिर से निलंबित कर दिया है. इस संबंध में गृह विभाग ने अधिसूचना जारी कर दी है। पुलिस प्रशिक्षु पुलिस उपाधीक्षक आशुतोष कुमार 16 जनवरी 2022 को कारावास से मुक्त हुए थे. इसके बाद 19 जनवरी 2022 को बक्सर में योगदान समर्पित किया था.

कोडरमा में घटी थी घटना

प्रशिक्षु डीएसपी पर हत्या जैसे अपराध में संलिप्त रहना, अनिवार्य प्रशिक्षण से अनाधिकृत रूप से गैरहाजिर रहना, बिना अवकाश स्वीकृत किए राज्य से बाहर जाना,अनुशासनहीनता, कर्तव्य के प्रति लापरवाही एवं पुलिस पदाधिकारी के आचरण के खिलाफ पाए जाने पर उन्हें 19 जनवरी 2022 के प्रभाव से एक बार फिर से निलंबित किया गया है. निलंबन अवधि में डीएसपी आशुतोष कुमार का कार्यालय आईजी केंद्रीय क्षेत्र पटना निर्धारित किया गया है.

झारखंड पुलिस ने डीएसपी को गिरफ्तार कर भेजा था जेल

बता दें, प्रशिक्षु पुलिस उपाधीक्षक आशुतोष कुमार के खिलाफ कोडरमा के चंदवारा थाना में 17 जुलाई 2021 को 62/2021 केस दर्ज किया गया था। डीएसपी के खिलाफ मर्डर की धारा 302, 120 आईपीसी और आर्म्स एक्ट की धारा 27 के तहत जेल भेजा गया था. कोडरमा में डीएसपी आशुतोष कुमार के सर्विस रिवॉल्वर से चली गोली से पटना के बेऊर के निखिल रंजन की मौत हो गई थी. मृतक निखिल के परिजनों ने ट्रेनी डीएसपी मित्र पर साजिश के तहत कत्ल का इल्जाम लगाया था. इसी मामले में डीएसपी समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था. 



Find Us on Facebook

Trending News