मुखिया पति तो बहुत देखे होंगे लेकिन बिहार के इस जिले में प्राचार्या पति संभालते हैं स्कूल की जिम्मेदारी

मुखिया पति तो बहुत देखे होंगे लेकिन बिहार के इस जिले में प्राचार्या पति संभालते हैं स्कूल की जिम्मेदारी

KATIHAR : बिहार सहित कई राज्यों में अक्सर महिला मुखिया यार सरपंच की जगह उनके पति या दूसरे रिश्तेदार जिम्मेदारी संभालते हुए देखा जा सकता है। चुने गए जनप्रतिनिधि का काम सिर्फ हस्ताक्षर करने तक होता है। लेकिन कभी किसी स्कूल में नियुक्त प्रधानाध्यापिका की जगह उनकी पति को जिम्मेदारी संभालते हुए शायद ही कहीं देखा गया होगा। लेकिन बिहार के एक सरकारी स्कूल ऐसा भी है जहां इसे देखा जा सकता है। 

यह सरकारी स्कूल है कटिहार जिले में। जहां आजमनगर प्रंखड के खुरियाल पंचायत के उत्क्रमित मध्य विद्यालय शिहरपुर में प्रधाधाध्यापिका के रूप में मीनू खातून की पोस्टिंग है। लेकिन यहां प्रधानाध्यापिका की जगह उनके पति मो. मिस्टर स्कूल स्कूल की रजिस्टरों की पड़ताल करते हुए नजर आते हैं। जब हमारे संवाददाता ने उनसे पूछा तो उन पर ही नाराजगी करने लगे और कहा कि जो करना है करो।

कोई भी छात्र ड्रेस में नहीं

बड़ी बात है कि स्कूल में प्रधानाध्यापिका कहीं नजर नहीं आती हैं, जबकि उनके शौहर उनके चेंबर में बैठे हुए नजर आ रहें हैं वह भी तब जब वह स्कूल टाइम था। यहां तक कि स्कूल का कोई छात्र भी यूनिफॉर्म में भी नहीं दिख रहा है। जबकि हर साल बच्चों के लिए ड्रेस के पैसे दिए जाते हैं। यहां के लोगों का कहना है कि यह एक दिन की बात नहीं है। पिछले कई दिनों से महीनों से ऐसे ही विद्यालय का संचालन हो रहा है। लेकिन कोई देखने वाला नहीं है। यहां तक एमडीएम के खाने को लेकर लोगों ने अपनी नाराजगी जाहिर की।

डिप्टी सीएम तक पहुंची शिकायत और हो गई कार्रवाई

स्कूल का संचालन प्राचार्य पति के द्वारा संभाले जाने की शिकायत कटिहार के विधायक और प्रदेश के डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद तक पहुंची तो वह भी हैरान रह गए। उन्होंने कहा यह बहुत गलत है। मैं जिले के शिक्षा विभाग के अधिकारी से इस पर बात करूंगा। इस मामले तार किशोर प्रसाद की शिकायत पर तत्काल कार्रवाई करते हुए प्राचार्य को निलंबित कर दिया गया है।

Find Us on Facebook

Trending News