शर्म से झुक गया सरकार का सिर : जेल में बंद पप्पू यादव को आईएमए ने किया सम्मानित, कोविड कंट्रोल में योगदान के लिए दिया कोविड वॉरियर्स अवार्ड

शर्म से झुक गया सरकार का सिर : जेल में बंद पप्पू यादव को आईएमए ने किया सम्मानित, कोविड कंट्रोल में योगदान के लिए दिया कोविड वॉरियर्स अवार्ड

DARBHANGA : इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव  को कोरोना वॉरियर के रूप में सम्मानित किया है. गुरुवार को दिल्ली से आए डॉक्टरों ने आईएमए के दरभंगा जिलाध्यक्ष डॉ. आमोद कुमार झा के साथ मिलकर पप्पू यादव के प्रतिनिधि और जाप नेता डॉ. मुन्ना खान को मोमेंटो और सर्टिफिकेट प्रदान किया. इस अवसर पर जाप कार्यकर्ताओं में काफी खुशी देखी गई. कार्यकर्ताओं ने लोगों को मिठाई बांटकर खुशी का इजहार किया.

आईएमए के दरभंगा जिलाध्यक्ष डॉ. आमोद कुमार झा ने कहा कि देश भर के गिने चुने हुए वैसे लोगों को जिन्होंने कोरोना से पीड़ित लोगों और उनके परिजनों की सेवा की, उन्हें आईएमए की ओर से कोरोना वॉरियर के सम्मान से नवाजा जा रहा है. इनमें जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव भी शामिल हैं. उन्होंने कहा कि पप्पू यादव ने कोरोना से पीड़ित लोगों की बहुत सेवा की. उनके इस सेवा के काम को आइएमए रिकॉग्नाइज कर रहा है. उन्होंने कहा कि इसलिए पप्पू यादव को आईएमए की ओर से यह सम्मान दिया जा रहा है

 जन अधिकार पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष डॉ. मुन्ना खान ने कहा कि कोरोना काल में दो ही लोग सबसे ज्यादा सेवा के काम में जुटे थे. एक तो डॉक्टर समुदाय के लोग थे और दूसरे जाप सुप्रीमो पप्पू यादव थे जो अपनी जान पर खेलकर अस्पताल-अस्पताल और गली-मोहल्लों में घूम कर लोगों को दवाइयां और दूसरे सामान से मदद कर रहे थे. उन्होंने कहा कि वे आईएमए को धन्यवाद ज्ञापित करते हैं और उनका आभार जताते हैं कि उन्होंने पप्पू यादव को कोरोना वॉरियर के रूप में सम्मानित किया.बता दें कि जाप सुप्रीमो करीब 5 महीने से न्यायिक हिरासत में दरभंगा के डीएमसीएच के मेडिसिन आईसीयू में इलाजरत हैं. उन्हें 32 साल पुराने अपहरण के एक मामले में बेल टूटने की वजह से मधेपुरा कोर्ट ने सुपौल के वीरपुर जेल भेज दिया था. वहां से उनकी तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें डॉक्टरों की सलाह पर इलाज के लिए डीएमसीएच भेजा गयी था जहां अब तक वे इलाजरत हैं.



सरकार ने मुझे कैद करके सम्मानित किया

वहीं इस अवार्ड के मिलने के बाद पप्पू यादव ने लिखा है कि कोरोना मरीजों की सेवा का असली सम्मान तो उनकी नजरों में नजर आने वाले संतोष से मिलने वाला सुकून ही होता है। पर IMA को दिल से आभार उन्होंने कोरोना के दौरान जिंदगियां बचाने के लिए मुझे सम्मानित किया। हालांकि, सरकार ने इसके लिए मुझे कैद कर सम्मानित किया। उनको भी धन्यवाद!  @IMAIndiaOrg

गौरतलब है कि कोरोना काल के दौरान लगातार पप्पू यादव के सक्रिय रहने से राज्य सरकार की परेशानी बढ़ गई थी। पप्पू यादव न सिर्फ लोगों की सहायता कर रहे थे, बल्कि सरकार की कमियों को उजागर कर रहे थे। छपरा के पूर्व सांसद राजीव प्रताप रुडी के द्वारा दी गई एबुंलेंस के घरों में पार्क किए जाने के खुलासे के दो तीन दिन बाद उन्हें 32 साल पुराने अपहरण के मामले में जेल मे भेज दिया गया था।



Find Us on Facebook

Trending News