टीईटी शिक्षक पर लाठी बरसानेवाली घटना की जांच रिपोर्ट डीएम के पास पहुंची, जाने क्या बताया गया है रिपोर्ट में

टीईटी शिक्षक पर लाठी बरसानेवाली घटना की जांच रिपोर्ट डीएम के पास पहुंची, जाने क्या बताया गया है रिपोर्ट में

PATNA :  दस दिन पहले शिक्षक की नौकरी की मांग करने पहुंचे टीईटी पास अभ्यर्थियों के प्रदर्शन के दौरान एक छात्र की पटना एडीएम द्वारा बेरहमी से पिटाई किए जाने के मामले में जांच पूरी कर ली गई है। जांच के लिए बनाई गई कमेटी ने मामले में एडीएम ( विधि-व्यवस्था) कृष्ण कन्हैया प्रसाद सिंह को जरूरत से ज्यादा आक्रामक और सतर्क नहीं होने का दोषी पाया है। जांच रिपोर्ट सामने आने के बाद अब पटना डीएम ने एडीएम से एक सप्ताह में अपना जवाब देने के लिए कहा है। 

देना होगा इन सवालों का जवाब

22 अगस्त को हुए घटना को लेकर जांच प्रतिवेदन के अनुसार घटना के समय एडीएम ने झंडे को लेकर सतर्कता नहीं बरती और प्रदर्शन कर रहे उस अभ्यर्थी पर जरूरत से ज्यादा बल प्रयोग किया। पुलिस पदाधिकारी और जवान के रहते हुए हाथ में ठंडा लेने का कोई स्पष्ट कारण प्रतीत नहीं हो रहा था। हाथ में झंडा लिए अभ्यर्थी के सभी ओर से घिरने के बाद भी लाठी से पिटाई तर्कसंगत नहीं था। उसे हिरासत में लेने के विकल्प पर तत्काल कार्रवाई नहीं की गई। अब एडीएम को जांच में उठाए गए तमाम सवालों के जवाब देने होंगे।

गौरतलब है कि 22 अगस्‍त को डाकबंगला चौराहा पर टीईटी अभ्‍यर्थी प्रदर्शन कर रहे थे। इसी दौरान एक युवक को बेरहमी से पीटते एडीएम केके सिंह का वीडियो तेजी से वायरल हुआ था। युवक के हाथ में तिरंगा था। एडीएम ने इसका भी ख्‍याल नहीं रखा। वे युवक पर लाठ‍ी भांजते रहे। उसके कान से खून बहने लगा। इसके बाद तो विपक्ष को भी सरकार पर हमले का मौका मिल गया। नई-नवेली सरकार के डिप्‍टी सीएम तेजस्‍वी यादव ने मामले में संज्ञान लिया। उसी दिन उन्‍होंने कहा कि जांच में दोषी पाए जाने वाले पर कार्रवाई होगी। 


Find Us on Facebook

Trending News