कुन्नूर हेलिकॉप्टर हादसे की आखिरी कड़ी भी टूटी, मौत से हार गए ग्रुप कैप्टेन वरुण सिंह, इकलौते शख्स, जो बचे थे जीवित

कुन्नूर हेलिकॉप्टर हादसे की आखिरी कड़ी भी टूटी, मौत से हार गए ग्रुप कैप्टेन वरुण सिंह, इकलौते शख्स, जो बचे थे जीवित

DESK : बीते सप्ताह तमिलनाडू के कुन्नूर में हुए सीडीएस विपीन रावत के हेलिकॉप्टर क्रेश की आखिरी कड़ी भी टूट गई है। हादसे में जीवित बचे इकलौते शख्स ग्रुप कैप्टेन वरुण सिंह ने भी दम तोड़ दिया है। हादसे के बाद से ही वरुण सिंह की हालत गंभीर बनी हुई थी और उन्हें बचाने के लिए प्रयास किया जा रहे थे। लेकिन, आखिरकार वह मौत से हार गए। 

भारतीय एयरफोर्स ने ट्वीट कर यह जानकारी दी.आईएएफ ने ट्वीट कर कहा, भारतीय एयरफोर्स को यह बताते हुए काफी दुख हो रहा है कि ग्रुप कैप्टन का इलाज के दौरान आज निधन हो गया. वे 8 दिसंबर 2021 को हुए हादसे में अकेले जिंदा बचे थे. एयरफोर्स अफसर उनके निधन पर संवेदनाएं व्यक्त करते हैं और उनके परिवार के साथ मजबूती से खड़े हैं।

यूपी के दवरिया के रहने वाले थे वरुण

ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह यूपी के देवरिया के खोरमा कन्हौली गांव के रहने वाले थे. उनका इलाज वेलिंग्टन के अस्पताल में चल रहा था. बेंगलुरु और पुणे के डॉक्टर इनका इलाज कर रहे थे. वरुण ग्रुप कैप्‍टन अभिनंदन वर्धमान के बैचमेट रहे हैं. अभिनंदन वर्धमान ने ही 27 फरवरी 2019 को भारत की सीमा में घुसे पाकिस्तानी विमानों को खदेड़ा था.

बता दें  कि 8 दिसंबर को तमिलनाडु के कुन्नूर में सीडीएस बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश हुआ था. इस हादसे में बिपिन रावत, उनकी पत्नी समेत 13 लोगों का निधन हो गया था. हादसे में सिर्फ वरुण सिंह ही अकेले बचे थे. बुधवार को वे जिंदगी की जंग को हार गए. 


Find Us on Facebook

Trending News