बंद होने जा रहा है छोटे बच्चों के लिए सबसे ज्यादा इस्तेमाल होनेवाला बेबी पाउडर, कंपनी ने लिया बड़ा फैसला

बंद होने जा रहा है छोटे बच्चों के लिए सबसे ज्यादा इस्तेमाल होनेवाला बेबी पाउडर, कंपनी ने लिया बड़ा फैसला

DESK : छोटे बच्चों को लगाने के  लिए जब भी कोई टेल्कम पाउडर खरीदने की बात होती है, तो उसमें सबसे पहले जॉनसन एंड जॉनसन की बेबी टेल्कम पाउडर का नाम सबसे पहले आता है। पिछले तीन दशक से जॉनसन एंड जॉनसन के बेबी पाउडर की बिक्री सबसे अधिक रही है। लेकिन अब कंपनी ने 2023 तक पूरी दुनिया में अपने बेबी टैल्कम पाउडर की बिक्री को बंद करने का फैसला लिया है। J&J का टैल्कम पाउडर अमेरिका और कनाडा में 2020 में ही बंद हो चुका है। अब कंपनी टैल्क बेस्ड पाउडर की जगह कॉर्न स्टार्च बेस्ड पाउडर बेचेगी।

दरअसल, दुनियाभर में दावे किए जाते रहे हैं कि इस बेबी पाउडर के इस्तेमाल से कैंसर होने का खतरा रहता है। कैंसर की आशंका वाली रिपोर्ट सामने आने के बाद प्रोडक्ट की बिक्री में भी भारी गिरावट दर्ज की गई थी। हालांकि कंपनी ने हमेशा इस पाउडर को सेफ बताया। J&J ने गुरुवार को कहा कि 'उसने अपने पोर्टफोलियो का असेसमेंट करने के बाद अपने सभी बेबी पाउडर प्रोडक्ट को टैल्कम पाउडर के बजाय कॉर्नस्टार्च का इस्तेमाल करके बनाने का कॉमर्शियल डिसीजन लिया है।' फर्म ने कहा कि कॉर्नस्टार्च आधारित बेबी पाउडर पहले से ही दुनिया के कई देशों में बेचा जा रहा है।


60 देशों में फैला है बाजार

जॉनसन एंड जॉनसन 60 से ज्यादा देशों में अपने प्रोडक्ट तैयार करती है जबकि इसकी करीब 250 सब्सिडियरी हैं। इसके प्रोडक्ट 175 से ज्यादा देशों में बेचे जाते हैं। भारत में इसका कॉम्पिटिशन डाबर, हिन्दुस्तान यूनिलीवर और हिमालय जैसे ब्रांड से है।

टैल्क से कैंसर का खतरा
 टैल्क से कैंसर के खतरे के आरोप लगते रहे हैं। दरअसल, जहां से टैल्क को माइन करके निकाला जाता है, वहीं से एस्बेस्टस भी निकलता है। एस्बेस्टस (अभ्रक) भी एक प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला सिलिकेट मिनरल है। ये शरीर को नुकसान पहुंचाता है। जब टैल्क की माइनिंग की जाती है तो उसमें एस्बेस्टस के भी मिलने का खतरा रहता है।






Find Us on Facebook

Trending News