प्रेमी ने बेचा,सौदा करने आए युवक ने बचाया, जानिए पूरी कहानी..

प्रेमी ने बेचा,सौदा करने आए युवक ने बचाया, जानिए पूरी कहानी..

WEST CHAMPARAN : जिला मुख्यालय बेतिया से फिल्मी कहानी जैसी घटना सामने आई है। यहां पुलिस ने रेड लाइट एरिया में पिछले तीन साल से फंसी किशोरी को उसकी दिलेरी से मुक्त कराया है। दरअसल यहां प्रेमी के साथ घर से भागने के बाद गलत काम कराने वालों के कब्जे में फंसी किशोरी को पुलिस ने उसकी दिलेरी से मुक्त कराया है। इस पूरे प्रकरण में सबसे अहम बात यह है कि जो युवक उसके देह की सौदा करने आया था उसने भी किशोरी की इस काम में मदद की। 

THE-STORY-OF-THIS-TEENAGER-WILL-REMIND-YOU-OF-THE-ROAD-KNOW-WHAT-IS-THE-WHOLE-MATTER-6.jpg

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार  पटना के मसौढ़ी थाना क्षेत्र से एक किशोरी को उसका प्रेमी बहला-फुसला कर वर्ष 2015 में भगा ले गया था। इस मामले में किशोरी के परिजनों ने मसौढ़ी थाने में भगवानगंज के अभय कुमार नामक युवक के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। अभय उस समय मसौढ़ी के लखीबाग वार्ड नंबर 24 में रहता था। पुलिस इस मामले की तफ्तीश में जुटी थी। इसी बीच किशोरी के परिजनों ने अभय को पकड़ पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिसिया पूछताछ में अभय ने किशोरी को भगाने की बात तो स्वीकार की, लेकिन उसका मौजूदा पता नहीं बता सका। तीन साल तक बेटी का कहीं कोई पता नहीं चलने से परिजन थक-हार कर बैठ चुके थे। पुलिस भी इस मामले को एक तरह से ठंडे बस्ते में डाल चुकी थी। इस बीच तीन-चार दिनों पहले किशोरी का अचानक अपने पिता के पास फोन आया। बच्ची ने बताया कि वह बेतिया शहर के रेड लाइट इलाके में है।

THE-STORY-OF-THIS-TEENAGER-WILL-REMIND-YOU-OF-THE-ROAD-KNOW-WHAT-IS-THE-WHOLE-MATTER-5.jpg

इस बात की सूचना परिजनों ने पुलिस को दी। इसके बाद पुलिस सक्रिय हुई और बेतिया पुलिस की मदद से उसे मंगलवार को बेतिया के नाजनीन चौक स्थित रेड लाइट एरिया के एक घर से बरामद कर लिया। मौके से पुलिस ने किशोरी से गलत काम कराने के आरोप में एक महिला समेत दो को गिरफ्तार भी किया है।  

THE-STORY-OF-THIS-TEENAGER-WILL-REMIND-YOU-OF-THE-ROAD-KNOW-WHAT-IS-THE-WHOLE-MATTER-2.jpg

रेड लाइट एरिया से बरामद पीड़िता ने बताया कि घर से भागने के बाद उसे कमरे पर रखने के नाम पर किसी के हवाले सौंप दिया गया। इसके बाद उसे उत्तर प्रदेश के मऊ, बस्ती, बनारस समेत कई शहरों में रखा गया।  कुछ-कुछ माह के अंतराल पर उसका शहर बदल दिया जाता था। इसके साथ ही उसका नाम भी बदल दिया जाता था। पुलिस की मानें तो किशोरी से गलत काम कराया जाता था। अमूमन जो भी बाहरी व्यक्ति उससे मिलने जाता, वह उससे घर पर फोन करने की गुहार लगाती थी। कानूनी पचड़े में फंसने के डर से कोई मदद को तैयार नहीं होता था।  

THE-STORY-OF-THIS-TEENAGER-WILL-REMIND-YOU-OF-THE-ROAD-KNOW-WHAT-IS-THE-WHOLE-MATTER-4.jpg

उसने बताया कि  बेतिया में आने के बाद उससे मिलने पहुंचे एक बाहरी युवक से उसने मिन्नत की। उसने अपने फोन से उसकी बात परिजनों से करायी। जिसके बाद पुलिस ने उसे मुक्त कराया। 

THE-STORY-OF-THIS-TEENAGER-WILL-REMIND-YOU-OF-THE-ROAD-KNOW-WHAT-IS-THE-WHOLE-MATTER-3.jpg

बेतिया नगर थानाध्यक्ष नित्यानंद चौहान ने बताया कि पटना के मसौढ़ी पुलिस के साथ मंगलवार की सुबह किशोरी के परिजनों के बताये गये घर पर छापेमारी की गयी। यहां के एक कमरे से किशोरी को बरामद किया गया, जिसे पुलिस ने अपने संरक्षण में रखा है। मौके से उत्तर प्रदेश के मऊ शहादतपुर की सोनी राजभर उर्फ कला तथा मऊ के ही शीतल राजभर को गिरफ्तार किया गया है। दोनों ने खुद को दंपति बताया है।

 

Find Us on Facebook

Trending News