नाले के पानी से बाधित आवागमन से परेशान बड़हिया टाल के किसानों की चेतावनी – निराकण नहीं हुआ नगर परिषद में लगा देंगे आग

नाले के पानी से बाधित आवागमन से परेशान बड़हिया टाल के किसानों की चेतावनी – निराकण नहीं हुआ नगर परिषद में लगा देंगे आग

लखीसराय. बड़हिया टाल में बुआई का समय हो चुका है लेकिन टाल जाने वाले मुख्य मार्ग पर बड़हिया नगर परिषद की ओर से शहर का गंदा पानी निस्तारित करने से मार्ग पर परिचालन बाधित है. दरअसल, नगर परिषद बड़हिया द्वारा पिछले कुछ वर्षों से शहर के गंदे नाले का पानी टाल के इलाके में छोड़ा जा रहा है. इससे न सिर्फ करीब 500 बीघा उपजाऊ भूमि पर फसल चौपट हो रही है बल्कि आवागमन भी बाधित हो रहा है. शनिवार को किसानों के एक प्रतिनिधिमंडल ने नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी के साथ टाल के मार्ग का दौरा किया. 

किसानों ने कार्यपालक पदाधिकारी अमित कुमार को स्थिति दिखाई. किस तरह से शहर का गंदा पानी टाल के इलाके में छोड़े जाने से मुख्य मार्ग बाधित हो गया है इससे लेकर किसानों ने नगर परिषद के प्रति अपना रोष भी प्रकट किया. श्याम सिंह नामक किसान ने कहा कि पिछले तीन-चार से ही यह स्थिति उत्पन्न हुई है. नगर परिषद के बेतुके निर्णय के कारण पूरे शहर का गंदा पानी टाल जाने वाले मुख्य मार्ग में छोड़ा जा रहा है. इससे सैंकड़ों बीघा उपजाऊ भूमि पर खेती बाधित है. बगीचों में हजारों पेड़ को नुकसान पहुंच रहा है. सबसे बड़ी बाधा टाल जाने वाले हजारों किसानों को हो गई है. जिस मार्ग में पानी छोड़ा जा रहा है वही टाल जाने के मुख्य मार्ग है. लेकिन जलजमाव के कारण यहां न तो वाहन जाने की स्थिति है और ना ही आदमी पैदल जा सकता है. 

उन्होंने कहा कि दस दिनों के बाद टाल में व्यापक स्तर पर बुआई का काम शुरू हो जाएगा. ऐसे में अगर इस मार्ग को दुरुस्त नहीं किया गया तो किसानों को बड़ी परेशानी झेलनी पड़ेगी. गुस्साए किसानों ने कहा कि नगर परिषद की गलती से हजारों किसान परेशान हैं. अब लाखों बीघा के टाल में बुआई होनी है लेकिन उनके ट्रेक्टर जाने का मार्ग ही बाधित है. किसानों ने नगर परिषद को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर उनके अवरुद्ध मार्ग को जल्द से जल्द जलजमाव मुक्त नहीं किया गया तो गुस्साए किसान किसी दिन नगर परिषद में आग लगा देंगे. किसानों ने कहा कि वे लखीसराय जिला प्रशासन को चेतावनी देते हैं कि अगर उनकी समस्या पर गौर नहीं किया गया तो वे हर प्रकार का आंदोलन कर सकते हैं. 

वहीं नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी अमित कुमार ने कहा कि इस समस्या के स्थाई निराकरण के लिए बुडको की ओर से सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाने की योजना है. लेकिन उसके लिये कुछ समय लगेगा. उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश रहेगी कि समस्या का तात्कालिक निराकण किया जाए.  


Find Us on Facebook

Trending News