मोतिहारी DEO-DPO ने शिक्षकों के स्थानांतरण में की थी भारी गड़बड़ी! अब मा. शि. निदेशक लेंगे एक्शन

मोतिहारी DEO-DPO ने शिक्षकों के स्थानांतरण में की थी भारी गड़बड़ी! अब मा. शि. निदेशक लेंगे एक्शन

PATNA: पूर्वी चंपारण के शिक्षा विभाग में बड़े स्तर पर गड़बड़ी की बात सामने आई है. इसके बाद शिक्षा विभाग ने जांच बिठा दिया. माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने तिरहुत प्रमंडल के क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक को मोतिहारी जिला शिक्षा पदाधिकारी एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारी स्थापना द्वारा किये गये अनियमित कार्यों के जांच के आदेश दिये थे। साथ ही जांच के बाद रिपोर्ट के साथ मुख्यालय तलब किया था। आरडीडीई ने 22 जुलाई को जांच रिपोर्ट के साथ उच्च् शिक्षा निदेशक के यहां पहुंचकर पूरे मामले की जानकारी दी है। अब गेंद माध्यमिक शिक्षा निदेशक के पाले में पहुंच गई है। 

मोतिहारी डीईओ-डीपीओ ने शिक्षकों के स्थानांतरण में की भारी गड़बड़ी

 बताया जाता है कि मार्च 2021 में जिला स्तरीय शिक्षकों के स्थानांतरण में नियमों को तार-तार किया गया। क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक ने भी शिकायत मिलने के बाद मोतिहारी डीईओ द्वारा किये गये स्थानांतरण आदेश पर दिये अनुमोदन को 27 मार्च को ही वापस ले लिया था और इसकी जानकारी डीईओ को दे दी थी।अब सबूत मुख्यालय तक पहुंच गया है। माध्यमिक शिक्षा निदेशक अब पूरे मामले पर अपने स्तर से कार्रवाई करेंगे। हालांकि मामले को रफा -दफा करने की पूरी कोशिश की गई थी। इस मसले पर कोई अधिकारी साफ-साफ बोलने से बच रहे हैं. 

जानिए पूरा मामला

दरअसल शिक्षा विभाग के माध्यमिक शिक्षा निदेशक के यहां मोतिहारी डीईओ डीपीओ (स्थापना) द्वारा किये गये अनियमित कार्यों की शिकायत दर्ज कराई गई थी। माध्यमिक शिक्षा निदेशक गिरिवर दयाल सिंह ने 7 जुलाई को तिरहुत के क्षेत्रीय शिक्षा उप निदेशक को पूरे मामले की जांच के आदेश दिये थे। माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने तिरहुत प्रमंडल के क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक को भेजे पत्र में कहा था कि परिवादी ने जिला शिक्षा पदाधिकारी अवधेश कुमार सिंह एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारी स्थापना प्रफुल्ल कुमार मिश्र द्वारा कार्यालय कर्मियों के सहयोग से शिक्षकों के अनियमित स्थानांतरण एवं विभागीय कार्यों में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है. परिवाद पत्र में उल्लेखित आरोपों की जांच कर प्रतिवेदन के साथ 22 जुलाई को कार्यालय कक्ष में उपस्थित होकर वस्तु स्थिति से अवगत कराएं.

बता दें कि पूरा मामला मोतिहारी में जिला संवर्ग के शिक्षकों के स्थानांतरण से जुड़ा है.तिरहुत के क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक ने शिक्षकों के स्थानांतरण में शिकायत मिलने पर पूर्वी चंपारण के जिला शिक्षा पदाधिकारी द्वारा प्रारंभिक शिक्षकों के स्थानांतरण संबंधी अनुमोदित प्रस्ताव को वापस ले लिया था। इसकी जानकारी उन्होंने मार्च 2021 में डीईओ को दिया था।  आरडीडी ने जिला शिक्षा पदाधिकारी पूर्वी चंपारण के स्थानांतरण पर अनुमोदन को वापस ले लिया. मतलब साफ है कि लिपिक के स्थानांतरण में गड़बड़ी हुई. शिकायत मिलने पर क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक ने स्थानांतरण संबंधी अनुमोदित प्रस्ताव को वापस ले लिया. इधर, मुजफ्फरपुर के आरडीडीई ने पूरे मामले से निदेशक गिरिवर दयाल सिंह को अवगत करा दिया है। अब देखना है कि माध्यमिक शिक्षा निदेशक आगे क्या कार्रवाई करते हैं। 

Find Us on Facebook

Trending News