वाल्मीकि टाइगर रिज़र्व में संदिग्ध परिस्थिति में बाघिन की हुई मौत, जांच में जुटे वनकर्मी

वाल्मीकि टाइगर रिज़र्व में संदिग्ध परिस्थिति में बाघिन की हुई मौत, जांच में जुटे वनकर्मी

BAGAHA : बिहार के इकलौते बाघ अभ्यारण्य वाल्मीकि टाइगर रिज़र्व में फिर एक बाघ की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। बाघों की गणना के दौरान कैमरा ट्रैप से की जा रही मॉनिटरिंग के साथ महज चार महीने में लगातार तीसरे बाघ की मौत ने वन विभाग को सकते में डाल दिया है। बताया जा रहा है कि वाल्मीकिनगर वन क्षेत्र के कालेश्वर के पास भारत नेपाल सीमा पर जिस मादा बाघ की मौत हुई है। वह मात्र आठ महीने की है। 

वीटीआर के क्षेत्र निदेशक हेमकांत राय ने आठ माह के फीमेल शावक का शव मिलने की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि जहां पर शावक की मौत हुई है। वहां से कुछ ही दूरी पर बाघों को ट्रैक करने के लिए कैमरा लगाया गया है। जिसका मेमोरी चेक करने पर एक बाघ और बाघिन को देखा गया। दोनों काफी बड़े दिखाई दे रहे है। वन संरक्षक ने बताया कि उसी में कोई शावक पर हमला बोल दिया। फीमेल शावक के गले और माथेे पर गहरा जख्म है। उन्होंने आशंका जताई कि आपसी संघर्ष में मौत हुई है। उन्होंनेे बताया कि शव को पोस्टमॉर्टम सुबह कराया जाएगा। रिपोर्ट आने के बाद मौत के कारणों का पता चलेगा।

उधर वाल्मीकि टाईगर रिजर्व के जंगल से निकले एक बाघिन के गंडक दियारा में शावकों के साथ दिखने का वीडियो वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में बाघिन के साथ शावकों को भी देखा गया है। नदी थाना क्षेत्र के रायपुरवा सरेह में बाघिन की चहलकदमी की खबर के बाद  किसानों में दहशत है। चंद्रपुर रतवल पंचायत के मुखिया ने दियारा में बाघिन के देखे जाने की बात स्वीकार की है जबकि वन विभाग को अबतक ट्रेकिंग में पगमार्क नही मिले हैं। सूचना के बाद वन विभाग ने बाघिन के पगमार्क के आधार पर खोज शुरू कर दी है। फिलहाल लोगों से सावधान रहने की अपील की गई है।

बगहा से माधवेन्द्र पाण्डेय की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News