धर्म के ठेकेदारों के निशाने पर फिर नुसरत जहां, देवबंदी उलेमा बोले- ये इस्लाम में हराम

धर्म के ठेकेदारों के निशाने पर फिर नुसरत जहां, देवबंदी उलेमा बोले- ये इस्लाम में हराम

तृणमूल कांग्रेस की युवा सांसद और बंगाली अभिनेत्री नुसरत जहां एक बार फिर विवादों में हैं। मुस्लिम होते हुए दुर्गा पूजा के अवसर पर कोलकाता के पंडाल में अपने पति निखिल जैन के साथ सिंदूर लगाकर पहुंचीं नुसरत जहां से देवबंदी उलेमा एक बार फिर नाराज हो गए हैं। दुर्गाभवन में पूजा करने के मामले में देवबंदी उलेमा का कहना है कि अगर नुसरत जहां को गैर मजहबी काम करने हैं, तो वह अपना नाम बदल सकती हैं।

नुसरत के साथ ये पहली बार नहीं हुआ है। संसद में शपथ लेते समय नुसरत ने जब वंदे मातरम बोला था तब भी हल्ला मचाया गया था। उन्होंने जब निखिल जैन से शादी की तब भी उन्हें घेरने की साजिश हुई थी। उनके सिंदूर लगाने और पहनावे को भी निशाना बनाता जाता रहा है लेकिन नुसरत ने कभी इसकी परवाह नहीं की।
 

अब तृणमूल कांग्रेस की सांसद के नवदुर्गा पूजन करने पर देवबंदी उलेमा नाराज हो गए हैं और नुसरत को नसीहत दी है कि वह क्यों गैर मजहबी वाले काम कर रही हैं क्योंकि इस्लाम में अल्लाह के सिवा किसी और की इबादत करना हराम है। उलेमाओं का कहना है कि अगर नुसरत जहां को गैर मजहबी काम करने हैं तो क्यों ना वो अपना नाम बदल लें। इस तरह के अमल करने से नुसरत जहां इस्लाम व मुसलमानों की तौहीन कर रही हैं।


Find Us on Facebook

Trending News