बिहार के कॉलेजों की स्थिति सुधारने के लिए शिक्षा विभाग ने बनाई योजना, हर कॉलेज में नियमित निरीक्षण करने के निर्देश

बिहार के कॉलेजों की स्थिति सुधारने के लिए शिक्षा विभाग ने बनाई योजना, हर कॉलेज में नियमित निरीक्षण करने के निर्देश

PATNA : बिहार के कॉलेजों के स्थिति जगजाहिर है। यहां के ज्यादातर विवि में शैक्षणिक सत्र दो-दो साल से पीछे चल रहे हैं। शायद ही कोई कॉलेज होगा, जहां पर नियमित क्लास होती है। ऐसे में बिहार की उच्च शिक्षा व्यवस्था को सुधारने के लिए शिक्षा विभाग ने बड़ा कदम उठाने का फैसला किया है। बिहार के शिक्षा मंत्री ने कहा कि विवि और कालेजों की स्थिति सुधारी जाएगी। इसके लिए  शिक्षा विभाग के अधिकारी एवं बिहार राज्य उच्चतर शिक्षा परिषद् के साथ विभिन्न विश्वविद्यालयों के पदाधिकारियों द्वारा भी महाविद्यालयों के नियमित निरीक्षण के लिए जाएंगे। इस दौरान वह न सिर्फ शिक्षकों एवं शिक्षकेत्तर कर्मियों की कठिनाइयों का संज्ञान लेकर उसे दूर करेंगे, बल्कि के शैक्षणिक माहौल को बेहतर करने के लिए जो भी जरुरी कदम होंगे उस पर काम करेंगे।

बीते गुरुवार को पटना के कला भवन में पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय के अधिकारी, प्राचार्य व शिक्षको की कार्यशाला को सफल बताते हुए शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा है कि 9 सितम्बर, 2021 को महामहिम राज्यपाल की अध्यक्षता में हुए कुलपतियों की बैठक में लिए गए निर्णय का हवाला देते हुए बताया कि सभी विश्वविद्यालयों को कक्षाएँ, सत्र एवं परीक्षाएँ नियमित कराने का निर्देश दिया गया है। शिक्षा विभाग इसका अनुपालन पूरी मुस्तैदी से सुनिश्चित कराना चाहता है। इसके लिए शिक्षा विभाग के अधिकारी एवं बिहार राज्य उच्चतर शिक्षा परिषद् मिलकर काम करेंगे।

इससे पहले शिक्षा मंत्री बिहार के नए शिक्षकों की नियुक्ति को लेकर कहा था कि पुराने शिक्षक ही नियमित रूप से क्लास में नहीं आ रहे हैं। ऐसे में नए शिक्षकों की नियुक्ति कैसे की जाए


Find Us on Facebook

Trending News