टॉयलेट साफ़ करने वाले के घर में पैदा होते तेजस्वी यादव तो उनका दर्द समझतें-माँझी

टॉयलेट साफ़ करने वाले के घर में पैदा होते तेजस्वी यादव तो उनका दर्द समझतें-माँझी

Patna: एससी एसटी परिवार के हत्या होने पर नौकरी देने के फ़ैसले पर सवाल उठने लगे हैं। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने मीडिया से बात करते हुए सीएम नीतीश के फैसले पर सवाल उठाए हैं। दलित महादलित परिवार के किसी सदस्य की हत्या पर नीतीश कुमार के नौकरी देने के एलान पर तेजस्वी का बयान देते हुए कहा कि नीतीश कुमार तो हत्या को प्रमोट कर रहे, पिछड़े जाती और स्वर्ण परिवार के लोगो की हत्या हुई तो उनके परिवार में नौकरी क्यो नहीं मिलेगी। 


इनका दोहरा चरित्र उजागर होने की बात कहते हुए तेजस्वी ने सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। वही इस पूरे मामले पर पूर्व मुख्यमंत्री जिन्होंने नए नए एनडीए की सहयोगी पार्टी बनी है बयान जारी करते हुए तेजस्वी के बयान पर पलटवार करते हुए राजद सुप्रीमो पर हमला बोला है। पूर्व सीएम जीतन राम माँझी ने पलटवार करते हुए कहा है कि इस क़ानून पर सवाल उठाने वाले पहले पढ़ाई लिखाई करें।

 ये क़ानून केन्द्र सरकार ने दशकों पहले बनाया था पर लालू यादव ने लागू होने नहीं दिया, दलितों का नरसंहार करवाने वालों को अब दलितों के नौकरियों से डर लगता है, लालू परिवार नहीं चाहते हैं कि कचरा साफ़ करने वाला, टॉयलेट धोने वाला सरकारी नौकरी करे, काश वैसे टॉयलेट साफ़ करने वाले के घर में पैदा होतें तो उनका दर्द समझतें। गौरतलब है कि एसटी एसटी की हत्या पर आश्रितों की नौकरी का मामला तूल पकड़ता दिखाई दे रहा है। 

Find Us on Facebook

Trending News