बिहार के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में फिर हुआ इलाज ठप, इस बार जूनियर डॉक्टर्स हुए नाराज

बिहार के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में फिर हुआ इलाज ठप, इस बार जूनियर डॉक्टर्स हुए नाराज

PATNA : बिहार के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल पीएमसीएच में एक बार फिर मरीजों का इलाज बंद हो गया और डॉक्टर्स ने काम ठप कर दिया है। आरोप है कि एक मरीज की इलाज के दौरान मौत हो गई, जिसके बाद परिजनों ने यहां काम कर रहे जूनियर डॉक्टर्स के साथ धक्कामुक्की और उनसे बदसलूकी की। जिसके बाद अस्पताल के जूनियर डॉक्टरों ने इमरजेंसी सेवा सहित ओपीडी सेवा को भी ठप कर दिया है। 

पूरे मामले को लेकर बताया गया कि तीन दिन पहले ब्रेन हेमरेज के शिकार एक मरीज को इलाज के लिए यहां टाटा वार्ड में भर्ती कराया गया था, लेकिन इलाज के दौरान मरीज की बीती रात मौत हो गई। जिसके बाद परिजन अस्पताल के डॉक्टरों पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए उनसे उलझ गए और रात में ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर्स से मारपीट करने लगे। जिसके बाद आज सुबह से विरोध में पीएमसीएच रजिस्ट्रेशन काउंटर बंद कर काम ठप कर दिया गया। डॉक्टर्स की मांग थी कि अस्पताल में उनके बेहतर सुरक्षा व्यवस्था कराई जाए।

वहीं दूसरी तरफ मृतक के परीजनों का कहना है कि उन्होंने  पीएमसीएच अधीक्षक से बेहतर इलाज के लिए  गुहार लगाई थी, लेकिन इस पर कार्रवाई करने की जगह उन्होंने गार्ड को बुलाकर जबरन हमलोगों को धक्का देकर कमरे से बाहर निकलवा दिया। जिसके बाद बीती रात मरीज की मौत के बाद आज सुबह परिजन अधीक्षक कार्यालय के बाहर घेराव करने के लिए पहुंच गए और खूब हंगामा किया है।  

इधर जूनियर डॉक्टर्स द्वारा मरीजों का इलाज बंद करने के कारण यहां आनेवाले लोगों की परेशानी बढ़ गई है। जिसके बाद अब स्थिति को फिर से संभालने की कोशिश तेज हो गई है। 


Find Us on Facebook

Trending News